HomeCS SubjectsComputer Architectureकंप्यूटर में रजिस्टर क्या है | What is Registers in Computer in...

कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है | What is Registers in Computer in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है (What is Registers in Computer in Hindi), रजिस्टर कितने प्रकार होते है, रजिस्टर की आवश्यकता क्यों पड़ती है, रजिस्टर के क्या कार्य होते है, रजिस्टर के क्या फायदे है और रजिस्टर एवं मेमोरी में क्या अंतर है ।

यदि आप कंप्यूटर को सामान्य दृष्टि से देखते हैं, तो आप देख पायेंगे कि कंप्यूटर में केवल दो प्रकार की मेमोरी होती है Hard Disk और RAM, लेकिन यदि आप कंप्यूटर को कंप्यूटर आर्किटेक्चर स्तर पर अध्ययन करते हैं, तो कंप्यूटर में मेमोरी के स्तरों की एक श्रृंखला को पायेंगे । ये आमतौर पर कुछ इस प्रकार होते हैं – Registers, L1 cache, L2 cache, L3 cache, Main Memory और HDD/SSD ।

इस पोस्ट से में आपको केवल Registers के बारे में विस्तार से जानकारी दूंगा ।

कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है (What is Registers in Computer in Hindi) ?

रजिस्टर एक प्रकार के कंप्यूटर मेमोरी है जिसका उपयोग सीपीयू द्वारा तुरंत उपयोग किए जा रहे डेटा और निर्देंशों को जल्दी से स्वीकार करने, संग्रहीत करने और स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है । सीपीयू द्वारा उपयोग किए जाने वाले रजिस्टरों को अक्सर प्रोसेसर रजिस्टर कहा जाता है ।

कंप्यूटर रजिस्टर हाई स्पीड मेमोरी स्टोरेज यूनिट हैं । यह कंप्यूटर प्रोसेसर का एक तत्व है । यह बिट अनुक्रम या एकल डेटा सहित किसी भी प्रकार की जानकारी ले जा सकता है ।

कंप्यूटर में निर्देश मेमोरी लोकेशन में सेव होते हैं और एक के बाद एक लागू होते हैं । कंटोल यूनिट का कार्य मेमोरी से निर्देश प्राप्त करना और उसे लागू करना है । कंटोल मेमोरी में सभी निर्देशों के लिए अनुक्रमिक क्रम में समान करता है ।

अगले निर्देश को लागू करने और उसके एड्रेस का मूल्यांकन करने के लिए पथ बनाए रखने के लिए एक काउंटर की आवश्यकता होती है । मेमोरी एड्रेस एकाधिक रजिस्टरों में सहेजे जाते हैं । ये आवश्यकताएं निश्चित रूप से कंप्यूटर में रजिस्टरों के उपयोग को बताती हैं ।

रजिस्टर कितने प्रकार होते है (Types of Registers) ?

कंप्यूटर में कई प्रकार के रजिस्टर हैं जो कंप्यूटर निर्देशों को निष्पादित करने के लिए उपलब्ध हैं । उनमें से कुछ महत्वपूर्ण नीचे दिए गई हैं :-

  • Accumulator
  • Data Register
  • Memory Address Register
  • Memory Data Register
  • Memory Buffer Register
  • Program Counter
  • Instruction Register
  • Index Register

रजिस्टर की आवश्यकता क्यों पड़ती है (Why we need a register) ?

निर्देशों के तेजी से संचालन के लिए, सीपीयू रजिस्टर अत्यधिक उपयोगी है । यह अन्य कंप्यूटर मेमोरी की तुलना में बहुत तेज है और कंप्यूटर मेमोरी पदानुक्रम के शीर्ष पर स्थित है । रजिस्टर निर्देश, पता या किसी अन्य प्रकार के छोटे डेटा को स्टोर कर सकता है । रजिस्टर सीपीयू के संचालन को कुशल और सार्थक बनाते है ।

रजिस्टर के क्या कार्य होते है (Functions of Registers) ?      

कंप्यूटर रजिस्टर के तीन महत्वपूर्ण कार्य हैं, Fetching, Decoding और Execution ।

उयगोगकर्ता से डेटा निर्देष रजिस्टर द्वारा विशिष्ट स्थान पर एकत्र और स्टोर किए जाते हैं । निर्देशों की व्याख्या और प्रसंस्करण किया जाता है ताकि उपयोगकर्ता को वांछित आउटपूट दिया जा सके । जानकारी को पूरी तरह से संसाधित किया जाना चाहिए ताकि उपयोगकर्ता अपेक्षित परिणामों को प्राप्त कर सके और समझ सके । कार्यों को रजिस्टरों द्वारा व्याख्यायित किया जाता है औ कंप्यूटर मेमोरी में स्टोर किया जाता है । जब कोई यूजर इस जानकारी के लिए पूछता है तो यूजर को दे दिया जाता है ।

प्रसंस्करण उपयोगकर्ता की आवश्यकता के अनुसार किया जाता है ।

रजिस्टर के क्या फायदे है (Advantages of Registers) ?

  • रजिस्टर सबसे तेज मेमोरी ब्लॉक हैं और इसलिए मुख्य मेमोरी की तुलना में निर्देशों को तेजी से निष्पादित किया जाता है ।
  • सीपीयू द्वारा रिजस्टरों की मदद से निर्देशों को अनुग्रह और सुगमता से नियंत्रित किया जाता है ।
  • आंतरिक स्टोरेज के अन्य रूपों की तुलना में कंपाइलर द्वारा रजिस्टरों को आसानी से और अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग किया जाता है ।
  • रजिस्टरों का उपयोग वेरिएबल रखने के लिए भी किया जा सकता है, जिससे मेमोरी ट्रैफिक कम हो जाता है ।

रजिस्टर कैसे काम करता है (How registers work) ?

निर्देश या डेटा के लिए रजिस्टर अस्थायी स्टोरेज क्षेत्र हैं । वे मेमोरी का हिस्सा नहीं हैं, बल्कि वे विशेष अतिरिक्त स्टोरेज स्थान हैं जो गति का लाभ प्रदान करते हैं । रजिस्टर नियंत्रण इकाई के निर्देशन में निर्देश या डेटा को स्वीकार करने, रखने और स्थानांतरित करने और उच्च गति पर अंकगणित या तार्किक तुलना करने के लिए काम करते हैं । निंयत्रण इकाई एक डेटा स्टोरेज रजिस्टर का उपयोग करती है जिस तरह से एक स्टोर मालिक कैश रजिस्टर का उपयोग करता है लेनदेन में उपयोग की जाने वाली चीजों को स्टोर करने के लिए एक अस्थायी, सुविधाजनक स्थान के रूप में ।

रजिस्टर और मेमोरी में क्या अंतर है (Difference between Register and Memory) ?

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है (What is Registers in Computer in Hindi), रजिस्टर कितने प्रकार होते है, रजिस्टर की आवश्यकता क्यों पड़ती है, रजिस्टर के क्या कार्य होते है, रजिस्टर के क्या फायदे है और रजिस्टर एवं मेमोरी में क्या अंतर है, इन सबके बारे में आपने हिन्दी में अच्छे से जानकारी मिल गया हैं ।

अगर फीर भी रजिस्टर को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल हैं तो आप हमें कमंट करके पुछ सकते है ।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit
Satyajithttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular