HomeCS SubjectsComputer Networksएनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन क्या है | Analog and Digital Transmission in...

एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन क्या है | Analog and Digital Transmission in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन क्या है (What is Analog and Digital Transmission in Hindi), उनके विशेषताएं और फायदे क्या है ।

तो चलिए एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन के बारे में विस्तार से जानते है ।

ट्रांसमिशन क्या है (What is Transmission) ?

ट्रांसमिशन किसी चीज को प्रसारित करने की क्रिया या प्रक्रिया है, या संचरित होने की अवस्था है ।

कंप्यूटर नेटवर्किंग में ट्रांसमिशन एक नेटवर्क से जुड़ें दो उपकरणों के बीच डेटा के हस्तांतरण के तंत्र को सदर्भित करता है ।

किसी व्यक्ति या एप्लिकेशन के लिए प्रयोग करने योग्य डेटा एक ऐसे रूप में नहीं होते है जिसे नेटवर्क पर प्रसारित किया जा सके ।

डेटा और सिग्नल दोनों जो उनका प्रतिनिधित्व करते हैं, या तो एनालॉग या डिजिटल रूप में हो सकते हैं ।

एनालॉग ट्रांसमिशन क्या है (What is Analog Transmission in Hindi) ?

एनालॉग डेटा उस जानकारी को संदर्भित करता है जो निरंतर है ।

सिग्नलों का उत्पादन करने के लिए कई प्रणालियों में एनालॉग सिग्नलों का उपयोग किया जाता है ताकि सूचना को ले जा सके । एनालॉग सिग्नल मूल्य और समय दोनों में निरंतर हैं ।

एनालॉग ट्रांसमिशन एक निरंतर सिग्नल का उपयोग करके आवाज, डेटा, छवि, सिग्रल या वीडियो जानकारी देने का एक विधि या तरीका है ।

एनालॉल ट्रांसमिशन का मतलब यह है कि ट्रांसमिशन एक एनालॉग सोर्स सिग्नल का स्थानातरण है जो एक एनालॉग मॉडयूलेशन विधि का उपयोग करता है ।

यह एक एनालॉग मॉडयूलेशन विधि जैसे Frequency Modulation (FM) या Amplitude Modulation (AM) या बिल्कुल नहीं मॉडयूलेशन का उपयोग करके एक एनालॉग सोर्स सिग्नल का स्थानांतरण करता है ।

डिजिटल ट्रांसमिशन क्या है (What is Digital Transmission in Hindi) ?

डिजिटल डेटा उस सूचनाओं को संदर्भित करता है जिनमें असतत अवस्थाए होती है ।

डिजिटल सिग्नल एक सिग्लन है जिसका उपयोग किसी भी समय अलग-अलग मूल्यों के अनुक्रम के रूप में डेटा का प्रतिनिधित्व करने के लिए किया जाता है । यह केवल एक निष्चित संख्या में मान ले सकता है ।

डिजिटल ट्रांसमिशन को डेटा ट्रांसमिशन या डिजिटल कम्युनिकेशन भी कहा जाता है ।

डिजिटल ट्रांसमिशन एक पॉइंट टू पॉइंट टू मल्टीपॉइंट कम्युनिकेशन चैनल पर डेटा का भौतिक हस्तांतरण है । स्थानांतरित किए जाने वाले डेटा को अक्सर विदयुत- चुंबकीय सिग्नल के रूप में दर्शाया जाता है ।

डिजिटल ट्रांसमिशन संदेशों को पूरी तरह से स्थानांतरित करता है । संदेशों को या तो एक लाइन कोड के माध्यम से pulses के अनुक्रम द्वारा या डिजिटल मॉडयूलेषन विधि का उपयोग करते हुए लगातार अलग-अलग तरंग रूपों के सीमित सेट द्वारा दर्शाया जाता है ।

डेटा ट्रांसमिटेड डेटा सोर्स जैसे एक कंप्यूटर या एक कीबोर्ड से उत्पन्न होने वाले डिजिटल संदेश हो सकते हैं ।

एनालॉग ट्रांसमिशन की विशेषताएं क्या है (Characteristics of Analog Transmission) ?

एनालॉग ट्रांसमिशन के फायदे क्या है (Advantages of Analog Transmission) ?

एनालॉग ट्रांसमिशन किसके लिए प्रयोग किया जाता है (What is Analog Transmission used for) ?

डिजिटल ट्रांसमिशन की विशेषताएं क्या है (Characteristics of Digital Transmission) ?

डिजिटल ट्रांसमिशन के फायदे क्या है (Advantages of Digital Transmission) ?

निर्ष्कष– Conclusion

इस पोस्ट में ट्रांसमिशन क्या है, एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन क्या है तथा उनके फायदे और विशेषताएं के बारे में विस्तार से समझाया है और मुझे आशा है हिन्दी में ही आपने इनके बारे अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी इनको लेकर आपके के मन में कोई सावाल है तो आप हमें कमेंट के जरीए पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here