HomeCS SubjectsComputer Architectureकंप्यूटर में डिस्क ड्राइव क्या है | What is Disk Drive in...

कंप्यूटर में डिस्क ड्राइव क्या है | What is Disk Drive in Hindi

क्या आप जानना चाहते है, कंप्यूटर में डिस्क ड्राइव क्या है (What is Disk Drive in Hindi), डिस्क ड्राइव कितने प्रकार है, डिस्क ड्राइव कितने घटकों से बने होते है, डिस्क ड्राइव के उपयोग क्या है और डिस्क ड्राइव कैसे काम करता है ।

स्टोरेज नेटवर्किंग में कई प्रकार के स्टोरेज डिवाइस का उपयोग किया जाता है, लेकिन उन में से सबसे महत्वपूर्ण डिस्क ड्राइव है ।

तो चलिए Disk Drive के बारे में विस्तार से जानते हैं ।

कंप्यूटर में डिस्क ड्राइव क्या है (What is Disk Drive in Hindi) ?

डिस्क ड्राइव एक ऐसी तकनीक है जो कंप्यूटर स्टोरेज डिस्क पर डेटा को पढ़ने, लिखने, हटाने और संशोधित करने में सक्षम बनाती है । यह या तो डिस्क का एक अंतर्निहित या बाहरी घटक है जो डिस्क के इनपुट/ आउटपुट संचालन का प्रबंधन करता है ।

डिस्क ड्राइव कितने प्रकार है (Types of Disk Drive) ?

डिस्क ड्राइव कई प्रकार होते है, जैसे :-

  • हार्ड डिस्क ड्राइव
  • ऑप्टिकल ड्राइव
  • फलॉपी ड्राइव

डिस्क ड्राइव कितने घटकों से बने होते है (Components of Disk Drives) ?

डिस्क ड्राइव का निर्माण कई अति विशिष्ट भागों और उपसमुच्चय से किया जाता है जो डिस्क ड्राइव के भीतर एक बहुत ही संकीर्ण रूप से परिभाषित कार्य का बेहतर ढंग से करने के लिए डिजाइन किया गया है । एक डिस्क ड्राइव कई गतिमान भागों से बनी होती है :-

  • Disk Platters
  • Read and write heads
  • Read / write channel
  • Buffer memory
  • Disk controller

Disk Platters

डिस्क प्लेटर ड्राइव के अंदर की फिजिकल मीडिया या वास्तविक डिस्क हैं जो डिस्क ड्राइव में मैग्रेटाइज्ड डेटा को स्टोर करती है । प्लेटर्स एक हल्के एल्यूमीनियम मिश्र धातु से बने होते हैं और एक चुंबकीय सामग्री के साथ लेपित होते हैं । प्लेटर्स तीन बुनियादी लेयर से बने होते हैं :-

  • The substrate – जो प्लेटर को उसका कठोर रूप देता है ।
  • The magnetic layer– जहां डेटा संग्रहीत किया जाता है ।
  • Protective overcoat layer– यह सूक्ष्म आकार के धूल कणों से डिस्क ड्राइव को होने वाले नुकसान को कम करने में मदद करता है ।

आज के समय में, अधिकांश डिस्क ड्राइव में चुंबकीय परत बनाने के लिए पतली फिल्म तकनीक का उपयोग किया जाता है, जो बहुत चिकनी और मोटाई में केवल कुछ मिलियन इंच होती है ।

Read and write heads

रिड राईट हेडस, रिकॉर्डिंग हेडस का उपयोग करके डेटा को प्लेटर को और उसके पास से टांसमिट करता है । डिस्क प्लेटर्स की चुंबकीय परत पर स्टोर डेटा को रिकॉर्ड करना और चलाना त्मंक ंदक ूतपजम हेडस की जिम्मेदारी होती हैं ।

लिखते समय, वे मीडिया में चुंबकीय अणुओं पर छापे जाने वाले चुंबकीय संकेतों को शामिल करते हैं और पढ़ते समय, वे उन संकेतों की उपस्थिति का पता लगाते हैं ।

Buffer memory

रोटेटिंग प्लैटर्स पर डेटा रिकॉर्ड करना और लिखना एक यांत्रिक प्रक्रिया है । यह मेमोरी चिप्स में डेटा ट्रांसफर के प्रदर्शन की तुलना में डिस्क ड्राइव के प्रदर्षन को लगभग 1000 गुना कम करता है । इस समस्या को दूर करने और ड्राइव और स्टोरेज कंट्रोलर के बीच डेटा ट्रांसमिशन को तेज करने के लिए इसमें आंतरिक बफर मेमोरी का इस्तेमाल किया जाता है ।

Disk controller

डिस्क ड्राइव में सभी आंतरिक लक्ष्य नियंत्रक होते हैं जो होस्ट या सबसिस्टम आरंभकर्ताओं के आदेशों का जवाब देते हैं । बाहरी सर्जक के साथा इंटर ऑपरेटिंग के अलावा, डिस्क ड्राइव में स्टोरेज कंट्रोलर ड्राइव के भीतर कमांड को निष्पादित करने के लिए जिम्मेदार होता है ।

डिस्क ड्राइव के उपयोग क्या है (Uses of Disk Drive ) ?

डिस्क ड्राइव कैसे काम करता है (How Disk Drive Works) ?

निर्ष्कष – Conclusion

FAQ’s

Q1 :

Ans :

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here