HomeCS SubjectsInheritance meaning in Hindi | Inheritance in Hindi

Inheritance meaning in Hindi | Inheritance in Hindi

ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग की दुनिया में, इनहेरिटेंस डेवलपर्स को कोड बनाने और बनाए रखने की सुबिधा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो कुशल और पुनः प्रयोज्य दोनों है। OOP में इनहेरिटेंस एक मुख्य अवधारणा है जो क्लासेस को अन्य क्लास से गुणों और मेथड को प्राप्त करने में सक्षम बनाती है। इस लेख में, हम इनहेरिटेंस का हिंदी में क्या अर्थ है (Inheritance meaning in Hindi), इनहेरिटेंस क्या है, प्रोग्रामिंग में इसका महत्व, यह कैसे काम करता है, इनहेरिटेंस के प्रकार, इसके फायदे और नुकसान, और इनहेरिटेंस का उपयोग करने के लिए सर्वोत्तम प्रक्टिसेस क्या है।

Table of Contents

इनहेरिटेंस का क्या मतलब होता है (Inheritance meaning in Hindi)?

इनहेरिटेंस शब्द का हिन्दी में कई अर्थ है जैसे – उत्तराधिकारी, पैत्रिक धन, विरासत, वंशागति इत्यादि ।

इनहेरिटेंस एक बच्चे की तरह है जो अपने माता-पिता से कुछ लक्षण या विशेषताएँ प्राप्त करता है। उदाहरण के लिए, यदि माता-पिता के भूरे बाल हैं, तो संभावना है कि उनके बच्चे के भी भूरे बाल होंगे।

प्रोग्रामिंग में इनहेरिटेंस क्या है (What is Inheritance in Programming)?

प्रोग्रामिंग में, इनहेरिटेंस तब होता है जब एक क्लास किसी अन्य क्लास की कुछ विशेषताओं का उपयोग या उधार ले सकता है, जैसे कि मेथड या विशेषताएँ, नए क्लास को स्क्रैच से सभी कोड को फिर से लिखे बिना बनाना आसान बनाता है।

इनहेरिटेंस ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग में एक फंडामेंटल कांसेप्ट है और इसका उपयोग उन क्लासों के पदानुक्रम बनाने के लिए किया जाता है जो सामान्य विशेषताओं को साझा करते हैं। यह कोड के पुनः उपयोग की अनुमति देता है, कोड की मात्रा को कम करता है जिससे जादा लिखने की आवश्यकता नही होती है, और कोड के रखरखाव और अपडेट को सरल बनाता है।

इनहेरिटेंस का OOP में क्या महत्व है (Importance of Inheritance in OOP in Hindi)

इनहेरिटेंस डेवलपर्स को कोड बनाने में सक्षम बनाता है जो कुशल और पुनः प्रयोज्य दोनों होते है। इनहेरिटेंस डेवलपर्स को नई क्लासेस बनाने की अनुमति देता है जो मौजूदा क्लास पर आधारित होती हैं, जो समय और प्रयास बचा सकती हैं। मौजूदा क्लास से विरासत में प्राप्त करके, डेवलपर्स उस कोड का पुनः उपयोग कर सकते हैं जो पहले से ही परीक्षण और काम करने के लिए सिद्ध हो चुका है। यह नया कोड विकसित करने के लिए आवश्यक समय और प्रयास की मात्रा को काफी कम कर सकता है।

इनहेरिटेंस भी बहुरूपता (Polymorphism) की सुविधा देता है, जो OOP में एक शक्तिशाली अवधारणा है। बहुरूपता विभिन्न क्लासों की ऑब्जेक्ट्स को परस्पर उपयोग करने में सक्षम बनाता है। उदाहरण के लिए, यदि दो क्लासों के पास एक ही मेथड का नाम और हस्ताक्षर है, तो उनका उपयोग परस्पर किया जा सकता है। यह अधिक लचीला और मॉड्यूलर कोड के लिए अनुमति देता है।

अन्य पोस्ट पढ़े: Queue का मतलब क्या होता है, कंप्यूटर विज्ञान में Queue क्या है 

इनहेरिटेंस के कितने प्रकार है (Types of Inheritance in Hindi)

इनहेरिटेंस को विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है, इस आधार पर कि एक दूसरे से क्लास कैसे प्राप्त की जाती हैं। इनहेरिटेंस के पाँच मुख्य प्रकार हैंः

  • Single inheritance
  • Multiple inheritance
  • Multi-level inheritance
  • Hierarchical inheritance
  • Hybrid inheritance

सिंगल इनहेरिटेंस (Single Inheritance)

सिंगल इनहेरिटेंस इनहेरिटेंस का सबसे सरल रूप है, जहाँ एक उपवर्ग केवल एक सुपरक्लास से विरासत में मिलता है। एकल वंशानुक्रम में, उपवर्ग को सुपरक्लास के सभी गुण और विधियाँ विरासत में मिलती हैं। ओओपी में इस प्रकार की विरासत का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है क्योंकि यह आसान कोड पुनः उपयोग की अनुमति देता है और समझने और बनाए रखने में आसान होता है।

मल्टीपल इनहेरिटेंस (Multiple Inheritance)

मल्टीपल इनहेरिटेंस एक प्रकार की इनहेरिटेंस है जहाँ एक उपवर्ग दो या दो से अधिक सुपरक्लास से विरासत में मिलता है। इस प्रकार की विरासत कुछ स्थितियों में उपयोगी हो सकती है, लेकिन इससे भ्रम और जटिलता भी हो सकती है। एकाधिक वंशानुक्रम में, यदि दो सुपरक्लास में एक ही विधि या संपत्ति है, तो उपवर्ग को यह निर्दिष्ट करना होगा कि किस सुपरक्लास की विधि या संपत्ति का उपयोग करना है।

बहु स्तरीय इनहेरिटेंस (Multi-level Inheritance)

बहु-स्तरीय इनहेरिटेंस एक प्रकार की विरासत है जहां एक उपवर्ग एक सुपरक्लास से विरासत में मिलता है, जो बदले में दूसरे सुपरक्लास से विरासत में मिलता है। इस प्रकार की विरासत का उपयोग जटिल वर्ग पदानुक्रम बनाने के लिए किया जा सकता है, लेकिन यह रखरखाव और पठनीयता के मुद्दों को भी जन्म दे सकता है।

पदानुक्रमित इनहेरिटेंस (Hierarchical Inheritance)

पदानुक्रमित इनहेरिटेंस एक प्रकार की विरासत है जहाँ दो या दो से अधिक उपवर्ग एक ही सुपरक्लास से प्राप्त होते हैं। इस प्रकार की विरासत उन स्थितियों में उपयोगी हो सकती है जहां कई वर्ग सामान्य कार्यक्षमता साझा करते हैं, लेकिन यह कोड दोहराव और रखरखाव के मुद्दों को भी जन्म दे सकता है।

हाइब्रिड इनहेरिटेंस (Hybrid Inheritance)

हाइब्रिड इनहेरिटेंस दो या दो से अधिक प्रकार की विरासत का संयोजन है। इस प्रकार की वंशानुक्रम कुछ स्थितियों में उपयोगी हो सकता है, लेकिन यह बहुत जटिल और बनाए रखने में कठिन भी हो सकता है।

अन्य पोस्ट पढ़े: डेटा स्ट्रक्चर में क्यू क्या है (What is Queue in Data Structure in Hindi)

इनहेरिटेंस के क्या फायदे हैं (Advantages of Inheritance in Hindi)

इनहेरिटेंस कई फायदे प्रदान करता है जैसे :-

  • कोड पुनः उपयोग (Code reuse): इनहेरिटेंस डेवलपर्स को मौजूदा कोड का पुनः उपयोग करने की अनुमति देता है, जिससे समय और प्रयास की बचत हो सकती है।
  • बहुरूपता (Polymorphism) : इनहेरिटेंस बहुरूपता की सुविधा देता है, जो विभिन्न वर्गों की वस्तुओं को परस्पर उपयोग करने में सक्षम बनाता है। इससे अधिक लचीला और मॉड्यूलर कोड हो सकता है।
  • प्रतिरूपकता (Modularity) : इनहेरिटेंस डेवलपर्स को मॉड्यूलर कोड बनाने की अनुमति देता है, जिसे समझना और बनाए रखना आसान हो सकता है।
  • दक्षता (Efficiency) : इनहेरिटेंस से अधिक कुशल कोड हो सकता है, क्योंकि डेवलपर्स स्क्रैच से नया कोड लिखने के बजाय मौजूदा कोड का पुनः उपयोग कर सकते हैं।

अन्य पोस्ट पढ़े: सॉफटवेयर इंजीनियरिंग में ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है

इनहेरिटेंस के क्या नुकसान हैं (Disadvantages of Inheritance in Hindi)

जबकि इनहेरिटेंस कई फायदे प्रदान करता है, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैंः

  • जटिलता (Complexity): इनहेरिटेंस कोड को अधिक जटिल और समझने और बनाए रखने में कठिन बना सकता है, खासकर जब विरासत के कई स्तरों का उपयोग किया जाता है।
  • कोड दोहराव (Code duplication) : इनहेरिटेंस से कोड दोहराव हो सकता है, क्योंकि उपवर्ग उन गुणों और विधियों को प्राप्त कर सकते हैं जिनकी आवश्यकता नहीं है।
  • नाजुकता (Fragility) : इनहेरिटेंस कोड को और अधिक नाजुक बना सकता है, क्योंकि सुपरक्लास में बदलाव से उपवर्गों पर अनपेक्षित परिणाम हो सकते हैं।

इनहेरिटेंस कैसे कार्य करता है (How Inheritance works in Hindi)

इनहेरिटेंस एक सबक्लास को एक सुपरक्लास से गुणों और मेथड को प्राप्त करने की अनुमति देकर काम करता है। जब एक सबक्लास बनाया जाता है, तो यह सुपरक्लास के सभी गुणों और मेथडों को इनहेरिट करता है। सबक्लास तब नए गुणों और मेथड को जोड़ सकता है, या मौजूदा को संशोधित कर सकता है।

अन्य पोस्ट पढ़े: मध्य प्रदेश किसान अनुदान योजना के सुविधाएँ, लाभ, पात्रता मानदंड और आवेदन कैसे करें

सुपरक्लास और सबक्लास की अवधारणा (Concept of superclass and subclass)

इनहेरिटेंस में दो क्लास शामिल होते हैंः सुपरक्लास और सबक्लास। सुपरक्लास वह क्लास है जिससे विरासत में मिला है, और सबक्लास वह क्लास है जो सुपरक्लास से विरासत में मिला है।

सुपरक्लास से मेथड और गुणों को कैसे इनहेरिट करता है (How to Inheriting methods and properties from a superclass)

जब एक सबक्लास एक सुपरक्लास से इनहेरिट करता है, तो यह सुपरक्लास के सभी तरीकों और गुणों को इनहेरिट करता है। सबक्लास तब इन मेथडों और गुणों का उपयोग कर सकता है जैसे कि उन्हें उपवर्ग के भीतर ही परिभाषित किया गया हो। सबक्लास नई मेथड और गुणों को भी जोड़ सकता है, या मौजूदा को संशोधित कर सकता है।

इनहेरिटेंस में कंस्ट्रक्टर्स की क्या भूमिका है (Role of constructors in inheritance)

कंस्ट्रक्टर विशेष तरीके हैं जिनका उपयोग किसी वर्ग की वस्तुओं को बनाने के लिए किया जाता है। जब एक सबक्लास बनाया जाता है, तो उसमें एक कंस्ट्रक्टर होना चाहिए। सबक्लास का निर्माता सुपरक्लास के निर्माता को कॉल कर सकता है, जो सबक्लास को सुपरक्लास से गुणों और मेथडों को प्राप्त करने की अनुमति देता है।

अन्य पोस्ट पढ़े: How to make Chicken Pakora in simple steps 

इनहेरिटेंस का उपयोग करने के सर्वोत्तम अभ्यास क्या है (Best Practices of using Inheritance)?

विरासत का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए, डेवलपर्स को कुछ सर्वोत्तम प्रथाओं का पालन करना चाहिएः

  • इनहेरिटेंस पदानुक्रम को सरल और समझने में आसान रखें।
  • एकाधिक विरासत का उपयोग करने से बचें, क्योंकि इससे भ्रम और जटिलता हो सकती है।
  • इनहेरिटेंस के अत्यधिक उपयोग से बचें, क्योंकि इससे कोड दोहराव और रखरखाव संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
  • सामान्य कार्यक्षमता को परिभाषित करने के लिए अमूर्त वर्गों और इंटरफेस का उपयोग करें, बजाय पूरी तरह से विरासत पर निर्भर रहने के।

निष्कर्ष (Conclusion)

इनहेरिटेंस OOP में एक मौलिक अवधारणा है जो डेवलपर्स को कुशल और पुनः प्रयोज्य कोड बनाने और बनाए रखने में सक्षम बनाती है। इनहेरिटेंस डेवलपर्स को मौजूदा कोड का पुनः उपयोग करने, बहुरूपता को सुविधाजनक बनाने और मॉड्यूलर और कुशल कोड बनाने की अनुमति देता है। हालाँकि, इनहेरिटेंस कोड को और अधिक जटिल बना सकता है, कोड दोहराव की ओर ले जा सकता है और कोड को और अधिक नाजुक बना सकता है। इनहेरिटेंस का उपयोग करने के लिए सर्वोत्तम प्रथाओं का पालन करके, डेवलपर्स इसके संभावित नुकसान से बचते हुए इसके लाभों का पूरा लाभ उठा सकते हैं।

FAQs on Inheritance

 

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit
Satyajithttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular