HomeCS SubjectsSoftware Engineeringऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है | What is Object Oriented Design in...

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है | What is Object Oriented Design in Software Engineering Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, सॉफटवेयर इंजीनियरिंग में ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है (What is Object Oriented Design in Software Engineering in Hindi), ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन की आवश्यकता क्यों है, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन की विशेषताएं क्या है, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन में क्या प्रक्रिया होते है और इसको इस्तेमाल करने का क्या लाभ है ।

मुझे लगता है कि आप तो जानते हैं कि, सॉफटवेयर इंजीनियरिंग सॉफटवेयर विकसित करने के लिए एक व्यवस्थित दृष्टिकोण को लागू करने की प्रक्रिया है । सॉफटवेयर इंजीनियरिंग को वास्तविक दुनिया की समस्या का एक कुशल समाधान विकसित करने के लिए उपकरणों और कार्यप्रणाली के अनुप्रयोग के रूप में भी परिभाषित किया जाता है ।

सॉफटवेयर डेवलपमेंट में कई महत्वपूर्ण गतिविधियां शामिल हैं, जिन्हें एक सॉफटवेयर बनाने के लिए संकलित और संलग्न किया जाता है जिसमें त्रुटिहीन गुण, विशेषताएं और कार्यक्षमता होती है । जिनमें से ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन भी एक महत्वपूर्ण डिजाइनिंग गतिविधियों है ।

इस प्रोस्ट के जरिए केवल ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन को विस्तार से सीखेंगे ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है (What is Object Oriented Design in Software Engineering in Hindi)

सॉफटवेयर गतिविधियों को शुरू करने और लागू करने के लिए, सॉफटवेयर इंजीनियरों को सॉफटवेयर के लिए एक उचित डिजाइन तैयार करने की आवश्यकता होती है,जो सॉफटवेयर विकास की प्रक्रिया के दौरान उनका मार्गदशन करते है । सॉफटवेयर डिजाइन कई प्रकार के होते हैं, जिनका उपयोग डिजाइनिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के साथ साथ सॉफटवेयर में जटिलताओं को कम करने के लिए किया जाता है ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड विश्लेषण का उपयोग करके बनाए गए विश्लेषण मॉडल को एक डिजाइन मॉडल में बदल देता है जो सॉफटवेयर निर्माण के लिए ब्लूप्रिंट के रूप में कार्य करता है ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन सॉफटवेयर डिजाइन के लिए एक दृष्टिकोण है जो कंप्यूटर प्रोग्राम को विकसित करने के लिए कोड की योजना बनाते समय वस्तुओं को परिभाषित करने और उनकी बातचीत की प्रक्रिया का उपयोग करता है ।

सॉफटवेयर विकास समय को कम करते हुए कोड की सटीकता में सुधार के लिए ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन विकसित किया गया था । ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड सिस्टम ऑब्जेक्टस से बने होते हैं जो एक प्रोग्राम को कैसे व्यवहार करना है, यह बताने के लिए एक दूसरे को संदेश भेजकर एक साथ काम करते हैं ।

सॉफटवेयर डिजाइन में ऑब्जेक्ट वास्तविक जीवन की ऑब्जेक्टों और चिंताओं का प्रतिनिधित्व करती हैं ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन की आवश्यकता क्यों है (Why Object oriented design is needed) ?

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन को सॉफटवेयर डेवलपमेंट में नीचे दिए गए आवष्श्कता के कारण इसे इस्तेमाल करते है :-

  • जटिल सॉफटवेयर सिस्टम को समझना आसान हो जाता है, क्योंकि ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड स्टक्चरिंग अन्य प्रोग्रामिंग तकनीकों की तुलना में वास्तविकता का एक करीबी प्रतिनिधित्व प्रदान करता है ।
  • यह एक अच्छी तरह से डिजाइन किए गए ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड सिस्टम है, इसमें अन्य बिंदुओं पर बदलाव किए बिना, क्लास लेवल पर बदलाव को लागू करना संभव है ।
  • Polymorphism और inheritance का उपयोग करते हुए, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग आपको अलग अलग घटकों का पुनः उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है ।
  • सिस्टम को संशोधित करने और बनाए रखने में षामिल काम की मात्रा कम हो जाती है, क्योंकि डिजाइन चरण में कई समस्यओं का पता लगाया जा सकता है और उन्हें ठीक किया जा सकता है ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन के विशेषताएं क्या है (Characteristics of Object Oriented Design) ?

  • ऑब्जेक्ट सिस्टम संस्थओं का अमूर्तन हैं, जो अपने निजी स्टेट के प्रबंधन और अन्य ऑब्जेब्टों को सेवाएं प्रदान करने के लिए जिम्मेदार हैं ।
  • ऑब्जेक्ट स्वतंत्र सस्थाएं हैं जिन्हें आसानी से बदला जा सकता है क्योंकि स्टेट और प्रतिनिधित्व की जानकारी ऑब्जेक्टों के भीतर होती है । अन्य सिस्टम ऑब्जेक्टस के संदर्भ के बिना प्रतिनिधित्व में परिवर्तन किए जा सकते हैं ।
  • सिस्टम की कार्यक्षमता प्रत्येक ऑब्जेक्ट से जुड़े संचालन या सेवाओं के संदर्भ में व्यक्त की जाती है ।
  • ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड सिस्टम को बनाए रखना आसान होता है क्योंकि ऑब्जेक्ट स्वतंत्र होते है ।
  • ऑब्जेक्ट को वितरित किया जा सकता है और क्रमिक रूप् से या समानांतर में निष्पादित किया जा सकता है । समानता पर निर्णय डिजाइन प्रक्रिया के प्रारंभिक चरण में लेने की आवश्यकता नहीं है ।

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन में क्या प्रक्रिया होते है (Process of Object oriented design) ?

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन के क्या लाभ है (Benefits of Object Oriented Design) ?

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन का लाभ ऑब्जेक्ट डेटाबेस की पुनः प्रयोज्यता में निहित है । चूंकि प्रत्येक ऑब्जेक्ट में केवल एक ही कार्य होता है, किसी ऑब्जेक्ट के लिए कोड किसी भी उदाहरण के लिए लागू रहताहै जहां ऑब्जेक्ट की आवश्यकता होती है ।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आषा है आपने सॉफटवेयर इंजीनियरिंग में ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन क्या है (What is Object Oriented Design in Software Engineering in Hindi), ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन की आवश्यकता क्यों है, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन की विशेषताएं क्या है, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन में क्या प्रक्रिया होते है और इसको इस्तेमाल करने का क्या लाभ है, इन सबके में आपने अच्छे से जान लिया हैं ।

अगर फिर भी, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डिजाइन को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पुछ सकते है ।

अन्य पोस्ट पढ़े –

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here