HomeCS SubjectsRDBMS क्या है | What is RDBMS in Hindi

RDBMS क्या है | What is RDBMS in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, RDBMS क्या है (What is RDBMS in Hindi), रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम के प्रकार, इसमें कौनसी कॉम्पोनेंट होते, इसके उपयोग, लाभ और रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम कैसे काम करता है ।

तो चलिए RDBMS को विस्तार से जानते है ।

RDBMS क्या है (What is RDBMS in Hindi) ?

RDBMS का पूरा नाम रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम है ।

एक रिलेशनल डेटाबेस एक प्रकार का डेटाबेस है जो एक दूसरे से संबंधित डेटा बिंदुओं को संग्रहीत और एक्सेस प्रदान करता है ।

यह एक प्रोग्राम है जो हमें रिलेशनल डेटाबेस बनाने, हटाने और अपडेट करने की सुविधा प्रदान करता है । रिलेशनल डेटाबेस एक डेटाबेस सिस्टम है जो rows और columns के रूप में व्यवस्थित ढंग से टेबलर प्रारूप में डेटा को संग्रहीत और पुनर्प्राप्त करता है ।

एक रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम सूचना मेनेजमेन्ट के लिए एक व्यापक और एकीकृत दृष्टिकोण प्रदान करती है ।

सभी आधुनिक डेटाबेस जैसे SQL, MS SQL Server, IBM DB2, Oracle, My SQL और Microsoft Access रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम (RDBMS) पर आधारित है ।

रलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम कितने प्रकार है (Types of RDBMS) ?

लोकप्रिय रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम हैः-

  • SQL
  •  MS SQL Server
  • IBM DB2
  • Oracle
  • MySQL  
  • Microsoft Access  

RDBMS का उपयोग क्या है (Uses of RDBMS) ?

रिलेशनल डेटाबेस मेनेजमेन्ट सिस्टम अक्सर विनिर्माण, मानव संसाधन और बैंकिंग जैसे विषयों में उपयोग की जाती है । यह सिस्टम एयरलाइनों के लिए भी उपयोगी है जिन्हें टिकट सेवा और यात्री दस्तावेजीकरण जानकारी के साथ साथ छात्र के डेटाबेस बनाए रखने वाले विश्वविद्यालयों में भी आवश्यकता होती है ।

RDBMS का उपयोग करने वाले विशिष्ट सिस्टम के कुछ उदाहरणों में IBM, Oracle, MySQL, SQL Server और PostgreSQL षामिल हैं ।

RDBMS में कौनसी कॉम्पोनेंट होते है (Components of RDBMS) ?

  • Table
  • Row
  • Column
  • Field
  • Primary Key
  • Foreign Key

RDBMS के क्या फायदे है (Advantages of RDBMS) ?

  • इसे मैनेज करना आसान है और प्रत्येक टेबल को दूसरों को प्रभावित किए बिना स्वतंत्र रूप से हेरफेर किया जा सकता है ।
  • यह सुरक्षा के कई स्तरों से युक्त अधिक सुरक्षित है ।
  • कई फाइलों में संशोधन किए बिना डेटा का अपडेट एक ही बिंदु पर किया जा सकता है ।
  • पहले से उपलब्ध कंटेंट के साथ निरंतरता सुनिश्चित करते हुए सिस्टम में नया डेटा जोड़ना या मौजूदा टेबल्स को बदलना आसान बनाता है ।
  • इसमें प्रयुक्त टेबल प्रारूप को समझना आसान है और यह एक संगठित और संरचनात्मक तरीका प्रदान करता है जिसके माध्यम से प्रश्रों को फायरिंग करके प्रविष्टियों का मिलान किया जाता है ।

RDBMS कैसे काम करता है (How RDBMS works) ?

RDBMS डेटा को टेबल के रूप में स्टोर करता है । प्रत्येक सिस्टम में अलग-अलग संख्या में टेबल होंते है और प्रत्येक टेबल की अपनी विशिष्ट Primary Key होती है । Primary Key का उपयोग तब प्रत्येक टेबल की पहचान करने के लिए किया जाता है ।

DBMS और RDBMS में क्या अन्तर है ?

DBMSRDBMS
DBMS में एक समय में केवल एक यूजर को स्वीकार करता है ।RDBMS में एक समय में कई उपयोगकर्ताओं के साथ काम कर सकता है ।
DBMS में डेटा को एक श्रेणीबद्ध (hierarchical) रूप में रखा जाता है ।जबकि इसमें एक टेबल का उपयोग किया जाता है जहां हेडर कॉलम नामों के रूप में उपयोग किए जाते हैं और row में संबंधित मान होते है ।
DBMS वितरित डेटाबेस के लिए समर्थन प्रदान नहीं करता ।RDBMS वितरित डेटाबेस के लिए पूर्ण समर्थन प्रदान करता है ।
DBMS कंप्यूटर नेटवर्क और सिस्टम हार्ड डिस्क के भीतर मौजूद डेटाबेस को बनाए रखने पर केंदित है ।जबकि RDBMS में डेटा की अपनी सम्मिलित टेबल के बीच संबंधों को मैनेज करने में मदद करता है ।
DBMS केवल थोड़ी मात्रा में डेटा का मैनेज कर सकता है ।RDBMS छोटे से लेकर बड़े तक किसी भी मात्रा में डेटा को संभाल सकता है ।

निर्ष्कष – Conclusion

रिलेशनल डेटाबेस टेबल में डेटा स्टोर करते है । टेबल्स बड़े हो सकते हैं और उनमें कई कॉलम और रिकॉर्ड हो सकते हैं । रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम इन बड़ी टेबल्स में डेटा को प्रबंधित करने के लिए SQL और SQL के वेरिएंट का उपयोग करते है ।

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने RDBMS के बारे में अच्छे से हिन्दी में ही जानकारी प्राप्त कर लिया हैं ।

अगर आपके कोई सवाल हैं तो आप हमें कमंट के जरिए पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here