HomeProgrammingकोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है | What is Kotlin programming language in...

कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है | What is Kotlin programming language in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, कोटलिन प्रोग्रामिंग भाशा क्या है (What is Kotlin programming language in Hindi), कोटलिन का उपयोग, फायदे और विशेषताए क्या है ।

तो चलिए Kotlin के बारे में विस्तार से जानते है ।

कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है (What is Kotlin programming language in Hindi) ?

Kotlin एक सामान्य उद्देश्य मुक्त, ओपन सोर्स, सांख्यिकीय रूप से टाइप की गई व्यावहारिक प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे शुरू में जावा वर्चुअल मषीन और एंड्रॉइड के लिए डिजाइन किया गया था जो ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड और कार्यात्मक प्रोग्रामिंग सुविधाओं को जोड़ती है ।

कोटलिन एक क्रॉस प्लेटफॉर्म प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे एंडॉइड ऐप डेवलपमेंट के लिए जावा के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है । शुरूआती लोगों के लिए जावा की तुलना में कोटलिन बहुत आसान है ।

कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास (History of Kotlin programming language) ?

कोटलिन का निर्माण तब हुआ जब लीड डेवलपर Dmitry Jemerov ने उन सुविधाओं की मांग की जो उन्हें जावा में नहीं मिलीं ।

Jemerov एक ऐसी प्रोग्रामिंग भाषा चाहते थे जिसमें अधिक आधुनिक प्रोग्रामिंग भाषाओं की सभी विशेषताए हों, जो JVM पर चले, और जावा के रूप में तेजी से संकलित हो ।

कोटलिन को JetBrains टीम द्वारा विकसित किया गया था । इस भाषा को विकसित करने के लिए 2010 में एक प्रोजेक्ट शुरू की गई थी और आधिकारिक तौर पर, पहली बार फरवरी 2016 में जारी की गई थी ।

कोटलिन को अपाचे 2.0 लाइसेंस के तहत विकसित किया गया है ।

एंडॉइड में कोटलिन का उपयोग क्यों किया जाता है (Why use Kotlin in Android ) ?

Android विकास के लिए जावा सबसे व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली प्रोग्रामिंग भाषा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह हमेषा सबसे अच्छा विकल्प है ।

कोटलिन को जावा वर्चुअल मशीन पर चलाने के लिए डिजाइन किया गया है और यह जावा के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल सकता है । हालॉकि कोटलिन ने सबसे पहले विशेष रूप से Android विकास के लिए एक भाशा के रूप में शुरूआत की थी, लेकिन इसकी विशेषताओं के कारण यह जल्दी से जावा समुदाय में फैल गया और तब से इसका उपयोग कई प्रकार के एप्लिकेशन के लिए किया जा रहा है ।

कोटलिन एक अभिव्यंजक और संक्षिप्त प्रोग्रामिंग भाशा है जो सामान्य कोड त्रुटियों को कम करती है और आसानी से मौजूदा ऐप्स में एकीकृत होती है ।

कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा की विशेषताए क्या हैं (Features of Kotlin programming language) ?

Conciseकोटलिन अतिरिक्त कोड लिखना कम कर देता है ।
Interoperableकोटलिन जावा वर्चुअल मशीन पर चलता है, इसलिए यह जावा के साथ पूरी तरह से इंटरऑपरेबल है । आप आसानी से कोटलिन से जावा कोड और जावा से कोटलिन कोड का उपयोग कर सकते है ।
Compilation timeइसमें बेहतर प्रदर्शन और तेज संकलन समय है ।
Extension functionकोटलिन विस्तार कार्यों आर विस्तार गुणों का समर्थ करता है जिसका अर्थ है कि यह क्लासों की कार्यक्षमता को उनके कोड को छुए बिना बढ़ाने में मदद करता है ।
Null safetyकोटलिन का लक्ष्य कोड से NullPointerException को खत्म करना है ।
Smart castयह स्पष्ट रूप से अपरिवर्तनीय value को टाइपकास्ट करता है और value को अपने सुरक्षित कास्ट में स्वचालित रूप से सम्मिलित करता है ।
Tool friendlyकोटलिन प्रोग्राम कमांड लाइन के साथ साथ किसी भी जावा IDE का उपयोग करके बनाए जाते है ।

कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा के क्या फायदे हैं  (Advantages of Kotlin programming language) ?

कोटलिन को Android ऑपरेटिंग सिस्टम पर जावा के प्रतिस्थापन के रूप में डिजाइन किया गया था । इसके जारी होने के आठ साल बाद 7 मई 2019 को Google ने घोषणा किया की कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा अब Android ऐप डेवलपर्स के लिए सबसे पसंदीदा प्रोग्रामिंग भाषा है ।

एैसे तो कोटलिन को डेवलपर्स द्वार कई कारणों से पसंद किया जाता है, उनमें से मुख्य कारण है :-

  • इसमें प्रोग्रामिंग करना संक्षिप्त है, जिससे आप जावा में बॉयलरप्लेट कोड लिखने में लगने वाले समय की बचत कर सकते हैं ।
  • कोटलिन के पास कोई रानटाइम ओवरहेड नहीं है । कभी कभी, किसी भाशा में सुविधाओं को जोड़ने का मतलब है कि इसमें अधिक ओवरहेड है, जो इसके प्रदर्शन को कम करता है । कोटलिन प्रोग्रामिंग के साथ ऐसा नहीं है ।
  • आप सिर्फ एक स्क्रिप्ट के साथ जावा फाइल को कोटलिन फाइल में बदल सकते हैं ।
  • कोटलिन कई प्लेटफॉर्म पर चल सकता है, इसलिए इसका उपयोग करके क्रॉस प्लेटफॉर्म ऐप बना सकते हो ।
  • कोटलिन जावा के साथ पूरी तरह से संगत है, इसलिए आपको अपना सारा कोड एक साथ बदलने की जरूरत नहीं है । आप कोटलिन का उपयोग करने के लिए किसी एप्लिकेशन को धीरे धीरे माइग्रेट कर सकते हैं ।

निर्ष्कष – Conclusion

कोटलिन एक आधुनिक प्रोग्रामिं भाषा है जो लिखने में आसान होने के साथ साथ जावा के साथ कंधे से कधां मिलाकर चल सकती है । यदि आप JVM के साथ Android ऐप या मल्टी प्लेटफॉर्म एप्लिकेशन विकसित करना चाहते हैं, तो आप जावा की तुलना में कोटलिन के साथ तेजी और आसानी से प्रोग्राम कर सकते है ।

मुझे भाषा है इस पोस्ट से आपने Kotlin के बारे में अच्छे से हिन्दी में जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी Kotline को लेकर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमें टिप्पणी अनुभाग के जरीए पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 : कोटलिन का नाम कोटलिन क्यों रखा गया है ?
Ans: कोटलिन नाम को कोटलिन द्वीप से रखा गया है ।

Q2 : कोटलिन प्रोग्रामिंग भाषा का आविष्कार किसने किया है ?
Ans: कोटलिन को सॉफटवेयर डेवलपमेंट टूल्स बनाने वाली कंपनी JetBrains द्वारा बनाया गया है । उन्होंने पहली बार 2011 में कोटलिन की घोषणा की और 2012 में इसे ओपन सोर्स बनाया ।

Q3 : कोटलिन क्या फ्री है ?
Ans: हॉ, कोटलिन फ्री है, इसे Apache 2.0 लाइसेंस के तहत विकसित किया गया है और सोर्स को GitHub पर उपलब्ध है ।

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here