HomeCS SubjectsComputer Networksनेटवर्क लेयर क्या है | What is Network Layer in Hindi

नेटवर्क लेयर क्या है | What is Network Layer in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, नेटवर्क लेयर क्या है (What is Network Layer in Hindi), इस पोस्ट से मैं आपको नेटवर्क लेयर क्या है, नेटवर्क लेयर की जिम्मेदारियां क्या हैं और नेटर्वक लेयर से संबंधित अन्य सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पूरी जानकारी दूंगा ।

इसकी पूरी जानकारी एक तालिका के माध्यम से दी गई है, जो नीचे सूचीबद्ध हैं ।

नेटवर्क लेयर क्या है (What is Network Layer in Hindi) ?

नेटवर्क लेयर होस्ट और नेटवर्क एडेसिंग, सब नेटवर्क को मैनेज करने और इंटरनेटवर्किंग से संबंधित विकल्पों का प्रबंधन करती है । नेटवर्क लेयर OSI मॉडल की तीसरी लेयर है । नेटवर्क लेयर ट्रांस्पोर्ट लेयर से सर्विस अनुरोध को हैंडल करता है और सर्विस अनुरोध को डेटा लिंक लेयर तक फॉरवर्ड करता है ।

नेटवर्क लेयर का सबनेट के भीतर या बाहर पैकेट को सोर्स से गंतव्य तक रूट करने की जिम्मेदारी है ।

नेटवर्क लेयर के क्या कार्य है (Functions of Network Layer) ?

नेटवर्क लेयर का प्राथमिक कार्य विभिन्न नेटवर्कों को आपस में जोड़ने में सक्षम बनाना है । यह पैकेट को नेटवर्क राउटर को अग्रेषित करके करता है, जो डेटा यात्रा करने के लिए सर्वोत्तम पथ निर्धारित करने के लिए एल्गोरिदम पर निर्भर करता है । नेटवर्क लेयर के मुख्य कार्य निम्न प्रकार है :-

  • Routing
  • Logical Addressing
  • Internetworking
  • Fragmentation

नेटवर्क लेयर द्वारा कौन सी सेवांए प्रदान की जाती है (Services provided by Network Layer) ?

  • Connectionless Communication
  • Host Addressing
  • Message Forwarding

Connectionless Communication

नेटवर्क लेयर एक छोर से दूसरे छोर तक डेटा के कम हस्तांतरण के कनेक्शन की सुविधा प्रदान करता है । कनेक्शन रहित संचार में किसी को रिसीवर के साथ सत्र बनाने की आवश्यकता नहीं होती है, यह किसी भी समय किया जा सकता है और इस प्रकार के संचा में किसी पावती की आवश्यकता नहीं होती है और यह नेटवर्क लेयर के कारण संभव है ।

Host Addressing

नेटवर्क में प्रत्येक होस्ट का एक विशिष्ट पता होना चाए जो यह निर्धारित करता है कि नेटवर्क में होस्ट कहॉ स्थित है । इंटरनेट पर प्रत्येक पते को एक आईपी पते के रूप में जाना जाता है और इस आईपी पते को नेटवर्क लेयर द्वारा संबोधित किया जाता है ।

Message Forwarding

संदेश अग्रेषण नेटवर्क लेयर द्वारा प्रदान की जाने वाली एक अन्य सेवा है । यहां, कई नेटवर्क उप नेटवर्क में विभाजित हैं और विस्तृत क्षेत्र संचार के लिए अन्य नेटवर्क से जुड़ते हैं ।

नेटवर्क लेयर विशेष होस्ट को उपयोग करता है जिसे राउटर के रूप में जाना जाता है जो विभिन्न नेटवर्क के बीच पैकेट को अग्रेषित करने के लिए उपयोग किया जाता है । नेटवर्क लेयर टांसपोर्ट लेयर से सर्विस अनुरोध का भी जवाब देती है और डेटा लिंक लेयर को सर्विस अनुरोध जारी करती है ।

नेटवर्क लेयर की विशेषताए क्या है (Features of Network Layer) ?

नेटवर्क लेयर की निम्न विशेषताए होती है :-

  • नेटवर्क लेयर की मुख्य जिम्मेदारी डेटा पैकेट को बिना बदले या उपयोग किए सोर्स से गंतव्य तक ले जाना है ।
  • यदि पैकेट डिलीवरी के लिए बहुत बड़े हैं, तो वे खंडित हो जाते हैं, यानी छोटे पैकेटों में टूट दिए जाते है ।
  • सोर्स और गंतव्य एड्रेस नेटवर्क लेयर के अंदर डेटा पैकेट में जोड़े जाते हैं ।
  • यह नेटवर्क में उपलब्ध कई रूटों के बीच सोर्स से गंतव्य तक यात्रा करने के लिए पैकेट द्वारा लिया जाने वाला रूट तय करता है ।

नेटवर्क लेयर का उपयोग क्या है (What is Network Layer used for) ?

नेटवर्क लेयर डिवाइस एड्रेसिंग का प्रबंधन करता है, नेटवर्क पर डिवाइस के स्थान को ट्रैक करता है, और डेटा को स्थानांतरि करने का सबसे अच्छा तरीका निर्धारित करता है, जिसका अर्थ है कि नेटवर्क लेयर को उन डिवाइसों के बीच ट्रैफिक को ट्रांसपोर्ट करना चाहिए जो स्थानीय रूप से संलग्न नहीं हैं ।

नेटवर्क लेयर पर कौन से प्रोटोकॉल का उपयोग किया जाता है ?

  • Address Resolution Protocol (ARP)
  • Internet Control Message Protocol (ICMP)

Address Resolution Protocol (ARP)

इसका उपयोग IP एड्रेस को MAC एड्रेस के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है । संचार करते समय, एक होस्ट को गंतव्य मशीन के लेयर-2 MAC पते की आवश्यकता होती है जो समान प्रसारण डोमेन या नेटवर्क से संबंधित होता है ।

Internet Control Message Protocol (ICMP)

यह नेटवर्क डायग्नोस्टिक और एरर रिपोर्टिंग प्रोटोकॉल है । ICMP IP प्रोटोकॉल सूद से संबंधित है और को कैरियर प्रोटोकॉल के रूप में उपयोग करता है । ICMP पैकेट बनाने के बाद इसे प्च् पैकेट में इनकैप्सुलेट किया जाता है । क्योंकि IP अपने आप में एक सर्वोत्तम प्रयास वाला गैर विश्वसनीय प्रोटोकॉल है, इसलिए ICMP भी है ।

नेटवर्क लेयर और इंटरनेट लेयर में अंतर क्या है ?

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे लगता है इस पोस्ट से मे आपको नेटवर्क लेयर क्या है, नेटवर्क लेयर के क्या कार्य है, नेटवर्क लेयर द्वारा कौन सी सेवांए प्रदान करती है, नेटवर्क लेयर की विशेषताए क्या है और नेटवर्क लेयर का उपयोग क्या है, इन सब के बारे में हिन्दी में अच्छे से जानकारी दिया हैं।

अगर फिर भी Network Layer को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है ।

FAQ‘s

Q1 : नेटवर्क में कितनी लेयर होती है ?

Ans: कंप्यूटर नेटवर्किंग में सात लेयर होते है, i) Physical Layer, ii) Data Link Layer, iii) Network Layer, iv) Transport Layer, v) Session layer, vi) Presentation Layer and vii) Application Layer A

Q2 : नेटवर्क लेयर मुख्य कार्य क्या है ?

Ans: नेटवर्क लेयर के मुख्य कार्य चार प्रकार होते है ।

Q3 : नेटवर्क लेयर कितनी सेवांए प्रदान करता है ?

Ans: नेटवर्क लेयर तीन प्रकार की सेवांए प्रदान करती है, i) Connectionless Communication, ii) Host Addressing, iii) Message Forwarding

Q4 :

Ans:

Q5 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here