HomeCS SubjectsComputer Networksकंप्यूटर नेटवर्क में Quality of Service क्या है | What is QoS...

कंप्यूटर नेटवर्क में Quality of Service क्या है | What is QoS in Computer Network in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, कंप्यूटर नेटवर्क में Quality of Service क्या है What is Quality of Service in Computer Network in Hindi), इसके कितने प्रकार है, यह क्यों महत्वपूर्ण है, क्या फायदे है, यह कैसे काम करता है और Quality of Service को कैसे लागू किया जाता है ।

तो चलिए Quality of Service के बारे में विस्तार से जानते हैं ।

कंप्यूटर नेटवर्क में Quality of Service क्या है (What is QoS in Computer Network in Hindi) ?

यह तंत्र या प्रौद्योगिकियों का उपयोग है जो यातायात को नियंत्रित करने के लिए नेटवर्क पर काम करते हैं और सीमित नेटवर्क क्षमता वाले महत्वपूर्ण एप्लिकेशन के प्रदर्शन को सुनिश्चित करें ।

यह विशिष्ट उच्च प्रदर्शन एप्लिकेशन को प्राथमिकता देकर संगठनां को अपन समग्र नेटवर्क टैफिक बनाता है ।

यह प्र्रौद्योगिकियों का एक समूह है जो सीमित नेटवर्क क्षमता के तहत उच्च प्राथमिकता वाले एप्लिकेशन और यातायात को भरोसेमंद रूप से चलाने की क्षमता की गारंटी के लिए नेटवर्क पर काम करता है ।

Quality of Service कितने प्रकार के होते है (Types of Quality of Service) ?

कंप्यूटर नेटवर्क में आमतौर पर तीन प्रकार की क्वालिटी ऑफ़ सर्विस (QoS) का उपयोग किया जाता है। ये प्रकार नेटवर्क ट्रैफ़िक को मैनेजिंग करने और प्राथमिकता देने के विभिन्न तरीकों पर आधारित हैं:

  • Best Effort
  • Integrated Services
  • Differentiated Services

1) सर्वोत्तम प्रयास (Best Effort):

इस प्रकार का फवै डेटा पैकेट की डिलीवरी के संबंध में कोई विशिष्ट गारंटी प्रदान नहीं करता है। नेटवर्क पैकेट प्रसारित करने का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करता है, लेकिन किसी प्राथमिकता या संसाधनों के आरक्षण के बिना।

2) एकीकृत सेवाएँ (Integrated Services):

व्यक्तिगत संचार प्रवाह के लिए नेटवर्क संसाधनों को आरक्षित करके प्रति-प्रवाह फवै गारंटी प्रदान करता है। यह सुनिश्चित करता है कि प्रत्येक प्रवाह को अनुरोधित गुणवत्ता पैरामीटर प्राप्त हों, लेकिन बड़े नेटवर्क में इसे स्केल करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

3) विभेदित सेवाएँ (Differentiated Services): 

यह विभेदित सेवाएँ प्रति-हॉप आधार पर संचालित होता है और पैकेट को विभिन्न सेवा वर्गों या ट्रैफ़िक वर्गों में वर्गीकृत करता है। प्रत्येक वर्ग को निर्दिष्ट प्राथमिकता के आधार पर एक विशिष्ट उपचार प्राप्त होता है, जिससे बड़े नेटवर्क में आसान स्केलेबिलिटी की सुविधा प्रदान करता है।

Quality of Service के कौन सी मानदंड होते है (Parameters of Quality of Service) ?

कंप्यूटर नेटवर्क में सेवा की गुणवत्ता (QoS) को विभिन्न मापदंडों के माध्यम से मापा और नियंत्रित किया जाता है जो विभिन्न प्रकार के ट्रैफ़िक को प्रदान की जाने वाली सेवा के प्रदर्शन और स्तर को निर्धारित करने में मदद करते हैं। कंप्यूटर नेटवर्क में (QoS) के महत्वपूर्ण पैरामीटर निचे दिए गए हैं:

1) Bandwidth: बैंडविड्थ एक निश्चित समय सीमा के भीतर डेटा ले जाने के लिए किसी नेटवर्क या विशिष्ट लिंक की क्षमता को संदर्भित करता है। इसे बिट्स प्रति सेकंड (bps) में मापा जाता है और प्रसारित की जा सकने वाली अधिकतम डेटा दर निर्धारित करता है। बैंडविड्थ आवंटन और प्रबंधन क्यूओएस के महत्वपूर्ण पहलू हैं, क्योंकि इष्टतम प्रदर्शन सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न ट्रैफ़िक प्रकारों को अलग-अलग मात्रा में बैंडविड्थ की आवश्यकता हो सकती है।

2) विलंबता(Latency): विलंबता, जिसे विलंब के रूप में भी जाना जाता है, यह एक पैकेट को सोर्स से गंतव्य तक यात्रा करने में लगने वाला समय है। यह आवाज और वीडियो संचार जैसे वास्तविक समय अनुप्रयोगों के लिए एक महत्वपूर्ण क्यूओएस पैरामीटर है, जहां एक सहज और इंटरैक्टिव अनुभव बनाए रखने के लिए कम विलंबता महत्वपूर्ण है। विलंबता नेटवर्क संकुलनए प्रसंस्करण विलंब और ट्रांसमिशन दूरी सहित विभिन्न कारकों से प्रभावित हो सकती है।

3) Jitter: जिटर पैकेट विलंब में भिन्नता को संदर्भित करता है, जिसके परिणामस्वरूप पैकेट की डिलीवरी में अनियमितताएं या उतार-चढ़ाव हो सकता है। यह वास्तविक समय के अनुप्रयोगों के लिए विशेष रूप से प्रासंगिक है जो लगातार डेटा स्ट्रीम पर निर्भर करते हैं, जैसे वॉयस ओवर आईपी (VoIP) या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग। अत्यधिक जिटर से ऑडियो या वीडियो की गुणवत्ता में गिरावट हो सकती है और कम्युनिकेशन में रुकावट आ सकती है।

4) पैकेट हानि(Packet Loss): पैकेट हानि तब होती है जब पैकेट गिरा दिए जाते हैं या सोर्स से गंतव्य तक सफलतापूर्वक डिलीवर नहीं किए जाते हैं। यह नेटवर्क की भीड़, त्रुटियों या नेटवर्क बुनियादी ढांचे में सीमाओं के कारण हो सकता है। डेटा अखंडता बनाए रखने और विश्वसनीय कम्युनिकेशन सुनिश्चित करने के लिए पैकेट हानि को कम करना महत्वपूर्ण है, खासकर उन अनुप्रयोगों के लिए जिन्हें संवेदनशील या समय-महत्वपूर्ण जानकारी के प्रसारण की आवश्यकता होती है।

5) सेवा उपलब्धता: सेवा उपलब्धता नेटवर्क सेवाओं की समग्र पहुंच और अपटाइम का एक माप है। यह उस समय का प्रतिशत दर्शाता है जब नेटवर्क या विशिष्ट सेवाएँ चालू हैं और उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध हैं। उच्च सेवा उपलब्धता QoS का एक महत्वपूर्ण पहलू है, क्योंकि यह सुनिश्चित करता है कि उपयोगकर्ता महत्वपूर्ण रुकावटों या डाउनटाइम के बिना नेटवर्क और सेवाओं तक विश्वसनीय रूप से पहुंच सकते हैं।

6) Throughput: थ्रूपुट डेटा की वास्तविक मात्रा को संदर्भित करता है जिसे एक निश्चित समय अवधि के भीतर प्रसारित या संसाधित किया जा सकता है। यह प्रभावी डेटा स्थानांतरण दर का प्रतिनिधित्व करता है और बैंडविड्थ, विलंबता, पैकेट हानि और नेटवर्क भीड़ जैसे फैक्टर्स से प्रभावित होता है। नेटवर्क संसाधनों के कुशल उपयोग और डेटा की समय पर डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए थ्रूपुट को अनुकूलित करना महत्वपूर्ण है।

Quality of Service क्यों महत्वपूर्ण है (Why Quality of Service is important) ?

सेवा की गुणवत्ता (QoS) कई कारणों से कंप्यूटर नेटवर्क में महत्वपूर्ण है, कुछ महत्वपूर्ण कारण नीचे दिए गए हैं:

1) प्राथमिकता(Prioritization): QoS महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों को प्राथमिकता देने की सुविधा प्रदान करता है, जिससे उनका प्रदर्शन और विश्वसनीयता सुनिश्चित होती है।

2) उपयोगकर्ता के अनुभव को बेहतर करना(Improved User Experience): यह विभिन्न प्रकार के ट्रैफ़िक के लिए उचित संसाधन आवंटित करके, QoS वॉयस और वीडियो स्ट्रीमिंग जैसे वास्तविक समय अनुप्रयोगों के लिए उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाता है।

3) कुशल संसाधन उपयोग(Efficient Resource Utilization): QoS ट्रैफ़िक आवश्यकताओं के आधार पर नेटवर्क संसाधनों को आवंटित करके, भीड़भाड़ को रोकने और सुचारू संचालन सुनिश्चित करके उन्हें अनुकूलित करने में मदद करता है।

4) सेवा स्तर समझौते (Service Level Agreements) : QoS सेवा प्रदाताओं को अपने ग्राहकों को गारंटीकृत गुणवत्ता स्तर प्रदान करने में सक्षम बनाता है, जिससे ग्राहकों की संतुष्टि और विश्वास सुनिश्चित होता है।

Quality of Service के क्या फायदे है (Advantages of Quality of Service) ?

कंप्यूटर नेटवर्किंग में सेवा की गुणवत्ता (QoS) कई लाभ प्रदान करती है जो नेटवर्क संचालन की समग्र दक्षता और प्रभावशीलता में योगदान करती है। QoS लागू करने के कुछ प्रमुख लाभ निचे दिए गए हैं :

  • QoS नेटवर्क प्रदर्शन को बढ़ाया है, यह सुनिश्चित करता है कि महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों को आवश्यक संसाधन प्राप्त हों, जिससे विलंबता, पैकेट हानि और जिटर कम हो।
  • QoS वास्तविक समय के ट्रैफ़िक को प्राथमिकता देता है, बिना किसी रुकावट के उच्च गुणवत्ता वाली आवाज़ और वीडियो संचार सुनिश्चित करता है।
  • QoS पर्याप्त बैंडविड्थ आवंटित करके और बफरिंग को कम करके मल्टीमीडिया सामग्री की निर्बाध स्ट्रीमिंग की सुविधा प्रदान करता है।
  • QoS तंत्र प्राथमिकता के आधार पर ट्रैफ़िक को वर्गीकृत करके बड़े नेटवर्क में स्केलेबिलिटी प्रदान करते हैं।

Quality of Service कैसे काम करता है (How does Quality of Service work) ?

QoS तंत्र नेटवर्क प्रोटोकॉल स्टैक की विभिन्न लेयर्स पर काम करते हैं। इनमें ट्रैफिक वर्गीकरण, मार्किंग, कतारबद्ध करना, आकार देना और पोलिसिंग शामिल है।

ट्रैफ़िक वर्गीकरण पूर्वनिर्धारित मानदंडों के आधार पर विभिन्न प्रकार के ट्रैफ़िक की पहचान करता है, जबकि पैकेट को प्राथमिकता या फवै लेबल निर्दिष्ट करता है।

कतारबद्धता सुनिश्चित करता है कि पैकेटों को उनकी प्राथमिकता के अनुसार प्रबंधित और प्रसारित किया जा रहा है, जबकि भीड़भाड़ को रोकने के लिए आने वाले और बाहर जाने वाले ट्रैफ़िक की दर को आकार देने और पोलिसिंग को नियंत्रित किया जाता है।

Quality of Service कैसे लागू करते है (How to implement Quality of Service) ?

कंप्यूटर नेटवर्क में सेवा की गुणवत्ता (QoS) को लागू करने में एक व्यवस्थित दृष्टिकोण शामिल होता है जो नेटवर्क के बुनियादी ढांचे, उपकरणों और कॉन्फ़िगरेशन सेटिंग्स पर कंसीडर करता है। QoS को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए निचे दिए गए स्टेप्स को अनुसरण कर सकते हैं:

1) एप्लिकेशन आवश्यकताओं को पहचानें: बैंडविड्थ, विलंबता और पैकेट हानि के संदर्भ में महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों की विशिष्ट आवश्यकताओं को निर्धारित करें। यह जानकारी ट्रैफ़िक को उचित रूप से प्राथमिकता देने में मदद करेगी।

2) ट्रैफ़िक वर्गीकरण करें: नेटवर्क ट्रैफ़िक को उसकी विशेषताओं और आवश्यकताओं के आधार पर वर्गीकृत करें। यह विभिन्न तरीकों जैसे पोर्ट नंबर, प्रोटोकॉल, आईपी एड्रेस, या डीप पैकेट निरीक्षण (DPI) तकनीकों का उपयोग करके किया जा सकता है।

3) QoS नीतियों को परिभाषित करें: QoS नीतियां बनाएं जो निर्दिष्ट करेगा कि विभिन्न प्रकार के ट्रैफ़िक को कैसे नियंत्रित किया जाना चाहिए। इन नीतियों में बैंडविड्थ आवंटन, पैकेट प्राथमिकताकरण और ट्रैफ़िक को आकार देने के नियम शामिल हो सकते हैं।

4) ट्रैफ़िक मार्किंग करें: पैकेटों को उनकी निर्दिष्ट प्राथमिकता के आधार पर उचित सेवा गुणवत्ता लेबल या विभेदित सेवा कोड पॉइंट (DSCPs) के साथ चिह्नित करें। यह अंकन नेटवर्क उपकरणों को पैकेटों की पहचान करने और उनके अनुसार व्यवहार करने की सुविधा प्रदान करता है।

5) भीड़भाड़ प्रबंधन करें: भीड़भाड़ को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए नेटवर्क उपकरणों पर कतारबद्ध तंत्र को कॉन्फ़िगर करें। इसमें विभिन्न ट्रैफ़िक वर्गों के लिए प्राथमिकता कतार निर्दिष्ट करना और वेटेड फेयर क्यूइंग (WFQ) या क्लास-आधारित वेटेड फेयर क्यूइंग (CBWFQ) जैसे कतार शेड्यूलिंग एल्गोरिदम को परिभाषित करना शामिल है।

6) ट्रैफिक शेपिंग करें: ट्रैफिक के प्रवाह को नियंत्रित करने के लिए ट्रैफिक शेपिंग तकनीकों को लागू करें और सुनिश्चित करें कि यह परिभाषित क्यूओएस नीतियों का पालन कर रहा है। इससे ट्रैफ़िक के विस्फोट को रोकने में मदद मिलती है जिससे भीड़भाड़ हो सकती है और सेवा की गुणवत्ता में गिरावट आ सकती है।

7) बैंडविड्थ आवंटन करें: विभिन्न ट्रैफ़िक वर्गों की आवश्यकताओं के अनुसार बैंडविड्थ आवंटित करें। इसे दर सीमित करने जैसे तंत्रों के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है, जो विशिष्ट प्रकार के ट्रैफ़िक के लिए अधिकतम सीमा निर्धारित करता है।

8) नेटवर्क डिवाइस कॉन्फ़िगरेशन करें: क्यूओएस सुविधाओं और कार्यों का समर्थन करने के लिए राउटर, स्विच और अन्य नेटवर्क डिवाइस को कॉन्फ़िगर करें। इसमें QoS तंत्र को सक्षम करना, प्राथमिकता कतारों को कॉन्फ़िगर करना और ट्रैफ़िक पथ के साथ प्रत्येक नेटवर्क डिवाइस पर नीतियां स्थापित करना शामिल हो सकता है।

9) निगरानी और अनुकूलन करें: नेटवर्क प्रदर्शन की लगातार निगरानी करें और विलंबता, पैकेट हानि और बैंडविड्थ उपयोग जैसे क्यूओएस मेट्रिक्स का विश्लेषण करें। QoS सेटिंग्स को अनुकूलित करने और यदि आवश्यक हो तो समायोजन करने के लिए इस डेटा का उपयोग करें।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने कंप्यूटर नेटवर्क में Quality of Service क्या है, इसके फायदे तथा कैसे लागू किया जाता है इनके बारे में हिन्दी में पूरी जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी Quality of Service के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप हमें comments करके पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here