Home CS Subjects Computer Science टांसमिशन हानि क्या है | What is Transmission impairment in Hindi

टांसमिशन हानि क्या है | What is Transmission impairment in Hindi

3870
What is Transmission Impairment in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, ट्रांसमिशन हानि क्या है (What is Transmission impairment in Hindi) और ट्रांसमिशन हानि कितने प्रकार होते है ।

चलिए Transmission impairment के बारे में सीखते है ।

टांसमिशन हानि क्या है (What is Transmission impairment) ?

Transmission impairment शब्द का हिन्दी में मतलब है संचरण हानि यानि आप जो भी डेटा और सुचना को भेज रहे हो वह सही तरह से प्राप्त नहीं होना, बाधा अथवा रुकावट आना है।

संचार या टांसमिशन सिस्टम में, एनालॉग सिग्नल टांसमिशन मीडिया के माध्यम से यात्रा करते हैं, जो एनालॉग सिग्नल की गुणवत्ता को खराब करता है, जिसका अर्थ है कि माध्यम की शुरूआत में सिग्नल माध्यम के अंत में सिग्नल के समान नहीं होता ह । अपूर्णता सिग्नल हानि का कारण बनती है ।

टांसमिशन हानि तब होती है जब प्राप्त सिग्नल प्रेशित सिग्नल से अलग होता है । जैसा कि हम जानते हैं, सिग्नल को एनालॉग सिग्नल के रूप में प्रेषित किया जा सकता है या इसे डिजिटल सिग्नल के रूप में प्रेषित किया जा सकता है ।

एनालॉग सिग्नल में टांसमिशन में खराबी के कारण प्राप्त सिग्नल को अलग अलग आयाम या आकार मिलता है ।

टांसमिशन हानि के प्रकार (Types of Transmission impairment) ?

यदि टांसमिशन मीडिया पूरी तरह से सही हो, तो रिसीवर बिल्कुल वही सिग्नल प्राप्त कर सकता है जो टांसमीटर ने भजा है । लेकिन संचार लाइने आमतौर पर सही नहीं होती हैं, इसलिए प्राप्त संकेत प्रेषित संकेत के समान नहीं होता है । टांसमिशन हानि के विभिन्न कारण हैं जेसे :-

  • Attenuation distortion
  • Delay distortion
  • Noise

Attenuation distortion (क्षीणन विकृति)

Attenuation एक ऐसे षब्द है जो सिग्नल की ताकत में किसी भी कमी को संदर्भित करता है । यह किसी भी प्रकार के सिग्नल के साथ होता है, चाहे वह डिजिटल सिग्नल हो या एनालॉग सिग्नल ।

उर्जा की मात्रा frequency पर निर्भर करती है । यदि attenuation बहुत अधिक है, तो रिसीवर सिग्नल का बिल्कुल भी पता लगाने में सक्षम नहीं हो सकता है, या सिग्लन शोर के स्तर से नीचे गिर सकता है । विश्वसनीय संचार के लिए, संचरण की frequencies की सीमा पर attenuation और विलंग स्थिर होना चाहिए ।

दुर्बल विकृति एक एनालॉग ग्निल की विकृति है जो टांसमिशन के दौनान होती है जब टांसमिशन माध्यम में माध्यम की बैंडविडथ या सिग्नल के आवृति स्पेक्टम में एक फलैट आवृति प्रतिक्रिया नहीं होती है ।

कंप्यूटर नेटवर्किंग में attenuation संचार सिग्नल शक्ति का नुकसान है जिसे डेसिबल (decibel) में मापा जाता है । जैसे जैसे attenuation की दर बढ़ती है, प्रसारण जैसे कि एक ईमेल जिसे युजर भेजने की कोशिश कर रहा है या एक फोन कॉल, अधिक distorted हो जाता है ।

Delay distortion (विलंब विकृति)

यदि कोई संकेत अपना रूप या आकार बदलता है, तो इसे विकृति ;कपेजवतजपवदद्ध कहा जाता है । विभिन्न तिमुनमदबल से बने सिग्नल मिश्रित सिग्नल होते हैं । इन मिश्रित संकेतों में विकृति उत्पन्न होती है ।

यह एक निर्देशित संचरण मीडिया घटना है जहां नेटवर्क डेटा सिग्नल एक निष्चित तिमुनमदबल और गति पर एक माध्यम के माध्यम से प्रेषित होते हैं । विलंब विरूपण तब होता है जब सिग्नल वेग और तिमुनमदबल भिन्न होती है । इसका मतलब है कि सभी सिग्नल एक ही समय पर नहीं आते हैं, जिसके परिणामस्वरूप सिग्नल विकृत हो जाता है ।

Noise (शोर)

शोर भी टांसमिशन हानि का एक अन्य कारण है । कुछ यादच्छिक या अवांछित संकेत है जो मूल संकेत के साथ मिल जाते हैं जिसे शोर कहा जाता है । टांसमिशन मीडिया द्वारा शुरू की गई विकृति के साथ-साथ षोर कई तरह से संकेतों को भ्रष्ट कर सकता है ।

शोर किसी भी बाहरी और अवांछित जानकारी को संदर्भित करता है जो टांसमिशन सिग्नल में हस्तक्षेप करता है ।

शोर संचरण षक्ति को कम कर सकता है और समग्र संचार दक्षता को बिगाड़ सकता है । संचार में, रेडियो तरंगों, बिजली लाइनों, बिजली और खराब कनेक्शन द्वारा शोर पैआ किय जा सकता है ।

कई प्रकार के शोर होते है, जैसे thermal शोर, induced शोर, crosstalk शोर और impulse शोर सिग्नल को दूषित कर सकते है ।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है आपने ट्रांसमिशन हानि क्या है (What is Transmission impairment in Hindi) और इसके कितने प्रकार है, हर एक प्रकार में क्या क्या समस्या आता है, इसके बारें में आपने अच्छे से सीख लिया हैं ।

अगर फिर भी Transmission impairment के बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमें कमेंट करके सुचित कर सकते है ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here