HomeProgrammingकार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है | What is Carbon programming language in...

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है | What is Carbon programming language in Hindi

हेल्लो पाठकों !

इस लेख से आप जानेंगे, कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है (What is Carbon programming language in Hindi), कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास क्या है, कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्यों बनाएं है, कार्बन प्रोग्रामिंग के लिए सिस्टम को कैसे सेटअप करते है और कार्बन और C++ प्रोग्रामिंग भाषा में क्या अंतर है ।

तो चलिए कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में विस्तार से जानते हैं ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है (What is Carbon programming language in Hindi) ?

कार्बन एक सामान्य उदेश्य वाली प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे Google में C++ के उत्तराधिकारी भाषा के रूप में बनाया गया है ।

कार्बन को आधुनिक प्रोग्रामिंग सिद्धांतो की नींव पर बनाया गया है, जिसमें एक जेनरिक सिस्टम भी षामिल है, जो प्रत्येक इंस्टेंटेशन के लिए कोड की जांच और पुनः जांच करने की आवश्यकता को हटा देगा ।

कार्बन संभवतः सॉफटवेयर और प्रोग्रामिंग भाषा दोनों के लिए एक विकास हो सकता है । यह मुख्य रूप से उस कोड पर केंदित होगा जिसे लिखना और पढ़ना आसान होगा ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा एक ऐसी भाषा होगी जो विकास में तेज और मापनीय होगी । यह सभी आधुनिक ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफॉर्म और एनवायरनमेंट को सपोर्ट करेगा ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास क्या है (History of Carbon programming language) ?

इस प्रोग्रामिंग भाषा का अधिक इतिहास नहीं हैं, क्योंकि यह हाल ही में Google द्वारा नई एक प्रोग्रामिंग भाषा का विकास है । 19 जुलाई, 2022 को Toronto में CPP North C++ सम्मेलन के दौरान, Google Engineer Chandler Carruth ने कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा को पहली बार पेश किया है ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्यों बनाएं है (Why build Carbon programming language) ?

हम सभी जानते हैं कि C++ प्रोग्रामिंग काम करने के लिए पहले से ही एक बेहतरीन प्रोग्रामिंग भाषा है । यह एक उच्च प्रदर्शन देने वाला और कई उत्पादन प्रणालियों में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है । यह कई प्लेटफॉर्म, हार्डवेयर आर्किटेक्चर और कई ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ चल सकता है ।

C++ प्रोग्रामिंग डेवलपर्स की जरूरतों को सुधारने और पूरा करने के लिए संघर्श कर रहा है । तकनीकी त्रण के साथ चुनौतियों के कारण C++ में सुधार करना अत्यंत कठिन है । इन समस्याओं का समाधान करने का सबसे अच्छा तरीका C या C++ की विरासत को सीधे प्राप्त करने से बचना है ।

Google ने इस प्रोग्रामिंग भाषा को C++ में आने वाली कमियों को दूर करने के लिए विकसित किया है ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा की प्रमुख विशेषताएं क्या है (Key features of Carbon programming language) ?

  • यह प्रदर्शन महत्वपूर्ण सॉफटवेयर का सपोर्ट करेगा
  • यह सॉफटवेयर और भाषा के विकास का सपोर्ट करेगा
  • यह तेज और स्केलेबल विकास का सपोर्ट करेगा
  • इसका कोड को पढ़ना, समझना और लिखना आसान है
  • यह आधुनिक प्लेटफॉर्म, हार्डवेयर आर्किटेक्चर और वातावरण का सपोर्ट करेगा

कार्बन प्रोग्रामिंग के लिए सिस्टम को कैसे सेटअप करते है (How to setup system for Carbon language)?

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा के साथ काम करने के लिए, आपको निम्नलिखित को स्थापना करने की आवश्यकता होगी :-

  • Package installation tool i.e. Homebrew
  • Install Bazel
  • Install LLVM
  • Setup Carbon language code

कार्बन प्रोग्रामिंग माषा की बेसिक स्ट्रक्चर और सिंटैक्स क्या है (Basic structure and Syntax of Carbon programming language)?

कार्बन भाषा अभी भी प्रायोगिक चरणों में है, जबकि अधिकांश डिजाइन विकल्प पहले से ही बनाने लगे हैं, कुछ syntax और उपयोग बदल सकते हैं क्योंकि इसमें चीजें विकसित हो रही हैं ।

लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि आपको इस समय इस प्रोग्रामिंग भाषा को सीखने की जरूरत नहीं है । मेरे विचार में, यदि आप अभी इस नई प्रोग्रामिंग भाषा को अनुसरण करना और सीखना शुरू करते हैं, तो आप जल्द ही अन्य प्रतियोगी की तुलना में आप सफल हो सकते है।

इसलिए, इस समय के लिए, हम कार्बन प्रोग्रामिंग की बेसिक स्ट्रक्चर और सिंटैक्स को सीख सकते हैं ।

Syntax and Structure of Carbon programming:

// This is a Carbon program

package ExplorerTest api;

fn Main() -> i32 {
  
  var s: auto = "Hello world!"; 
  let x: i32 = 20; 
  var y: i32 = 3; 

  Print(s);
  return 0;
}

चलिए उपरोक्त कार्बन प्रोग्राम को बिस्तार से समझते है :-

  • इसमें package कीवर्ड का उपयोग करके किसी भी पैकेल को घोषित किए गए हैं ।
  • fn कीवर्ड का उपयोग करके मेथड/फंक्शन को घोषित किए गए हैं ।
  • वेरिएबल को var कीवर्ड का उपयोग करके घोषित किए गए हैं ।
  • वेरिएबल नाम : के साथ समाप्त होना चाहिए उसके बादमें खाली स्थान होनी चाहिए ।
  • let कीवर्ड का उपयोग करके constant घोषित किए गए हैं ।
  • Comments को दो back slash // का उपयोग करके घोषित किया गए है ।

कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा के सभी रिसोर्सेज को Github repo से एक्सेस किया जा सकता है ।

निर्ष्कष – Conclusion

Google ने कार्बन नाम के एक नई प्रोग्रामिंग भाषा को दुनिया के सामने लाया है, जो आने वाले दिनों में C++ प्रोग्रामिंग भाषा का उत्तराधिकारी हो सकता है ।

मुझे आशा है, इस टयूटोरियल (Carbon programming language tutorial) से आपने कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा क्या है, इसका उपयोग क्या है और Google ने इसे क्यों बनाया है इसके बारे में अच्छे से पूरी जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

यह प्रोग्रामिंग की दुनिया में एक नई प्रोग्रामिंग भाषा है और प्रायोगात्मक/अनुसंधान चरण में भी है । कोई भी नई जानकारी मिलने के बाद हम जल्दी से अपडेट करेंगे । इसलिए कार्बन प्रोग्रामिंग भाषा से जोड़े नए अपडेट पाने के लिए आप नियमित रूप से हमारी वेबसाइट को बिजिट कर सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here