HomeCS SubjectsComputer Architectureऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नैल क्या है | What is Kernel in Operating...

ऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नैल क्या है | What is Kernel in Operating System in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, ऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नैल क्या है (What is Kernel in Operating System in Hindi), कर्नेल के प्रकार और कैसे काम करता है ।

तो चलिए कर्नैल के बारे में विस्तार से जानते है।

ऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नैल क्या है (What is Kernel in Operating System in Hindi) ?

कर्नैल एक ऑपरेटिंग सिस्टम का मुख्य भाग है, इसलिए सिस्टम में हर चीज पर इसका पूरा नियंत्रण होता है । हार्डवेयर और सॉफटवेयर के प्रत्येक ऑपरेशन को कर्नेल द्वारा मेनेज और प्रशासित किया जाता है ।

यह एक ऑपरेटिंग सिस्टम का केंदीय घटक है । यह हाडवेयर स्तर पर किए गए एप्लिकेशन और डेटा प्रोसेसिंग के बीच एक सेतु का जैसा काम करता है ।

यह ऑपरेटिंग सिस्टम का वह हिस्सा है जो हमेशा कंप्यूटर मेमोरी मे रहता है और सॉफटवेयर और हाडवेयर कम्पोनेंट के बीच संचार को सक्ष बनाता है ।

जब भी कोई सिस्टम शुरू किया जाता है, तो कर्नेल पहला प्रोग्राम होता है जो बूटलोडर के बाद लोड होता है, एक बार लोड होने के बाद कर्नेल ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए बाकी चीजों को संभलता या मेनेज करता है ।

जब ऑपरेटिंग सिस्टम लोड होता है, तो कर्नेल भी मेमोरी में लोड हो जाता है और तब तक वहीं रहता है जब तक ऑपरेटिंग सिस्टम फिर से बंद नहीं हो जाता ।

कर्नैल कितने प्रकार होते है (Types of Kernel) ?

इसके पॉच प्रकार होते हैं, जो है :-

  • Monolithic Kernels
  • Microkernel
  • Hybrid Kernel
  • Nanokernel
  • Exokernel

ऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नैल का कार्य क्या है (Functions of a Kernel) ?

  • Process Management
  • Access Computer resource
  • Resource Management
  • Control Memory Management
  • Control Device Management

ओएस और कर्नेल के बीच क्या अंतर है (Difference between OS and Kernel) ?

Operating SystemKernel
 ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफटवेयर है कर्नेल सिस्टम सॉफटवेयर है जो ऑपर्रेटंग सिस्टम का हिस्सा है ।
 ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर और हार्डवेयर के बीच इंटरफेस प्रदान करता है । कर्नेल एप्लिकेशन और हार्डवेयर के बीच इंटरफेस प्रदान करता है ।
 यह र्पोटेकश्न और सुरक्षा भी प्रदान करता है ।इसका मुख्य उदेश्य मेमोरी प्रबंधन, डिस्क प्रबंधन, प्रक्रिया प्रबंधन और कार्य प्रबंधन है ।
 कंप्यूटर को चलाने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है ।ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाने के लिए कर्नेल की आवश्यकता होती है ।
ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के बूट होने पर लोड होने वाला पहला प्रोग्राम है ।कर्नेल ऑपरेटिंग सिस्टम लोड होने पर लोड होने वाला पहला प्रोग्राम है ।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है इस पोस्ट से आपने कर्नैल के बारे में अच्छे से हिन्दी में जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी कर्नैल को लेकर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमें टिप्पणी अनुभाग के जरीए पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :  

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़ें :

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit
Satyajithttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular