HomeCS Subjectsडिजिटल हस्ताक्षर क्या है | What is digital signature in Hindi

डिजिटल हस्ताक्षर क्या है | What is digital signature in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, डिजिटल हस्ताक्षर क्या है (What is digital signature in Hindi), इसके गुण, उपयोग, लाभ और डिजिटल हस्ताक्षर कैसे काम करता है ।

तो चलिए digital signature के बारे में विस्तार से जानते है ।

डिजिटल हस्ताक्षर क्या है (What is digital signature in Hindi) ?

डिजिटल हस्ताक्षर एक सार्वजनिक कुंजी एल्गोरिदम (Public Key Algorithm) का उपयोग करके बनाए गए किसी व्यक्ति की इलेक्ट्रॉनिक पहचान है, जिसका उदेश्य प्राप्तकर्ता को डेटा की अखंडता और प्रेषक की पहचान को सत्यापित करना है ।

ऑक्सफोर्ड डिक्षनरी के परिभाषा के अनुसार, डिजिटल हस्ताक्षत एक डिजिटल कोड के रूप में Public-Key एन्क्रिप्शन द्वारा उत्पन्न और प्रमाणित करता है जो इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रेशित दस्तावेज से जुड़ा होता है जो इसकी कॉन्टेंट और प्रेषक की पहचान को सत्यापित करता है ।

डिजिटल हस्ताक्षर एक प्रोटोकॉल है जो वास्तविक हस्ताक्षर के समान प्रभाव पैदा करता है । यह एक ऐसा चिन्ह है जिसे केवल प्रेषक ही बना सकता है, लेकिन अन्य लोग आसानी से प्रेषक से संबंधित के रूप में पहचान सकते हैं ।

एक वास्तविक हस्ताक्षर की तरह, एक संदेश के लिए समझौते की पुष्टि करने के लिए एक डिजिटल हस्ताक्षर का उपयोग किया जाता है ।

डिजिटल हस्ताक्षर कितने प्रकार है (Types of digital signature) ?

डिजिटल हस्ताक्षर के तीन प्रकार होते है, जो हैं :-

  • Simple
  • Basic
  • Advanced

डिजिटल हस्ताक्षर के गुण (Properties of digital signature) ?

एक डिजिटल हस्ताक्षर निचे दिए शर्तों को पूरा करना चाहिए :-

  • It must be authentic
  • It must be unforgeable
  • It is not alterable
  • It is not reusable

डिजिटल हस्ताक्षर का उपयोग क्यों किया जाता है (Why digital signature is used) ?

उद्योग डिजिटल हस्ताक्षर टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हैं र्पोसेस को सुव्यवस्थित करने और दस्तावेज अखंडता में सुधार करने के लिए ।

डिजिटल हस्ताक्षर डेटा अखंडता प्रदान करता है । यदि डेआ पर कोई हमला होता है, तो उपभोक्ता पक्ष में डिजिटल हस्ताक्षर का सत्यापर विफल हो जाता है, संशोधित डेटा का हैश मान एल्गोरिदम के आउटपुट से मेल नहीं खाएगा । यह उपभोक्ता को संदेष को अस्वीकार करने में मदद करता है और उपभोक्ता और प्रेषक दोनों के लिए सिस्टम को बचाता है ।

डिजिटल हस्ताक्षर का क्या लाभ है (Benefits of digital signatures) ?

डिजिटल हस्ताक्षर को मुख्य लाभ सुरक्षा है । डिजिटल हस्ताक्षर में अंतर्निहित सुरक्षा क्षमताएं सुनिश्चित करती हैं कि दस्तावेज में कोई बदलाव नहीं किया गया है और हस्ताक्षर वैध हैं । इसमें उपयोग की जाने वाली सुरक्षा सुविधओं और विधियों में निम्नलिखित षामिल हैं :-

  • PIN, password and codes
  • Asymmetric cryptography
  • Checksum
  • Cyclic redundancy check
  • Trust service provider validation
  • Certificate authority validation
  • Traceability

डिजिटल हस्ताक्षर कैसे काम करता है (How digital signatures work) ?

डिजिटल हस्ताक्षर, हस्तलिखित हस्ताक्षर की तरह, प्रत्येक हस्ताक्षरकर्ता के लिए unique होती हैं । जब कोई हस्ताक्षरकर्ता इलेक्टॉनिक रूप से किसी इस्तावेज पर हस्ताक्षन करता है, तो हस्ताक्षरकर्ता की private key का उपयोग करके हस्ताक्षर बनाया जाता है, जिसे हस्ताक्षरकर्ता द्वारा हमेषा सुरक्षित रूप से रखा जाता है ।

गणितीय एल्गोरिदम एक Cipher की तरह काम करता है, हस्माक्षरित दस्तावेज से मेल खाने वाला डेटा बनाता है, जिसे Hash कहा जाता है, और उस डेटा को एन्क्रिप्ट करता है । परिणामी एन्क्रिप्टेड डेआ डिजिटल हस्ताक्षर है ।

हस्ताक्षर उस समय के साथ भी चिन्हित किया जाता है जब दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए गए थे। यदि हस्ताक्षर करने के बाद दस्तावेज बदलता है, तो डिजिटल हस्ताक्षर अमान्य हो जाता है ।

निर्ष्कष – Conclusion

डिजिटल हस्ताक्षर ने व्यवसायों के लिए हस्ताक्षर संलग्न करने की प्रक्रियाओं का चेहरा बदल दिया है । यह अनधिकृत आंखों से जानकारी की सुरक्षा का एक सुरिक्षित तरीका प्रदान करता है । पैसे की लेनदेन में, डिजिटल हस्ताक्षर प्रणाली लेनदेन के दोनों पक्षो पर विश्वास की गारंटी के लिए एक फुलप्रूफ टेम्पलेट बनाती है ।

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने डिजिटल हस्ताक्षर क्या है के बारे में हिन्दी में पूरी जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी इसके बारे में आपके पास कोई सवाल हैं, तो आप हमें comments के जरिए सूचित कर सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here