HomeCS SubjectsComputer Scienceइंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्या है | c in Hindi

इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्या है | c in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्या है (What is Instruction Set Architecture in Hindi), यह कितने प्रकार के होते है, इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्यों महत्वपूर्ण है और इंस्टक्शन सेट क्या ऑपरेशन करता है । ।

अगर आप इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर के बारे जानकारी खोज रहे हैं तो आप सही जगह पर पहुंचे हैं।

तो चलिए Instruction Set Architecture के बारे में विस्तार से सीखते है ।

सबसे पहले कुछ वुनियादी चिजे जानते है ।

कंप्यूटर द्वारा किया जाने वाला मूल कार्य प्रोग्रामों को निष्पादन (Program Execution) करना है । निश्पादित किए जाने वाले प्रोग्राम कंप्यूटर के मेमोरी में संग्रहीत निर्देशों का एक समूह होता है । कंप्यूटर के CPU वास्तविक कार्य करके प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे निर्देशों को क्रियान्वित करता है ।

किसी प्रोग्राम को निष्पादित करने के लिए कंप्यूटर के प्रमुख घटकों या सीपीयू के इंटरैक्ट करने के तरीकों को समझने के लिए, आपको इंस्टक्शन चक्र (Instruction Cycle) की प्रक्रिया को जानना होगा ।

इंस्टक्शन चक्र क्या है (What is Instruction Cycle) ?

इंस्टक्शन चक्र वह चक्र है जो सीपीयू बूट-अप से लेकर कंप्यूटर बंद होने तक चलता है जो निर्देशों को संसाधित करने के लिए काम में आता है । निर्देश चक्र में दो चरण होते है :-

सीपीयू एक बार में मेमोरी से निर्देश पढ़ता य प्राप्त करता है । फिर यह इस सिन्गल निर्देश निष्पादित किया जाता है ।

प्रोग्राम के निष्पादन में इन दो चरणों (निर्देश लाने और निर्देश निष्पादन) को बार बार दोहराना शामिल होते है प्रोग्राम के अंत तक ।

प्रोग्राम के निष्पादन में ही कई चरण शामिल होते हैं ।

इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्या है (What is Instruction Set Architecture in Hindi) ?

इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर प्रोसेसर का वह हिस्सा है जो प्रोग्रामर या कंपाइलर लेखक को दिखाई देता है । यह सॉफटवेयर और हार्डवेयर के बीच एक सीमारेखा के रूप में कार्य करता है ।

यह एकमात्र तरीका प्रदान करता है जिसेक माध्यम से उपयोगकर्ता हार्डवेयर के साथ बातचीत करने में सक्षम होता है । इसे प्रोग्रामर के मैनुअल के रूप में देखा जा सकता है क्योंकि यह महीन का वह हिसा है जो असेंबली लैंग्वेल प्रोग्रामर, कंपाइलर राइटर और एप्लिकेशन प्रोग्रामर को दिखाई देते है ।

इसमें नेटिब डेटा प्रकार, निर्देश, रजिस्टर, एडेसिंग मोड, मेमोरी आर्किटेक्चर, Interrupt एवं exception और बाहरी इनपुट/आउटपुट शामिल हैं ।

Instruction Set Architecture के कितने प्रकार होते है ?

उपयोग के अनुसार इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर को निम्नलिखित श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है :-

  • CISA
  • RISC
  • VLIW

Complex Instruction Set Computer (CISA)

यह कंप्यूटर निर्देशों के एक पूर्ण सेट के साथ डिजाइन किए गए कंप्यूटरों को संदर्भित करता हैं, जिनका उदेश्य सबसे कुषल तरीके से आवश्यक क्षमताएं प्रदान करना था ।

एक ऐसा कंप्यूटर है जिसमें अकेला निर्देश कई निम्न स्तरीय संचालन निष्पादित कर सकते हैं या अकेला निर्देशों के भीतर बहु-चरण संचालन या मोड को संबोधित करने में सक्षम हैं ।

इसमें विभिन्न प्रकार के विशेषज्ञ निर्देश होते हैं और व्यावहारिक कार्यक्रमों में अक्सर इसका उपयोग नहीं किया जा सकता है ।

Reduced Instruction Set Computer (RISC)

निर्देशों के एक छोटे, अत्यधिक अनुकूलित सेट का उपयोग करता है ।

यह आर्किटेक्चर का एक विकल्प है और इसे अक्सर आज उपलब्ध सबसे कुषल सीपीयू आर्किटेक्चर तकनीक माना जाता है ।

यह केवल उन निर्देशों को निष्पादित करता है जो आमतौर पर कार्यक्रमों में उपयोग किए जाते हैं और इस प्रकार प्रोसेसर को सरल बनाते है ।

Very Long Instruction Word (VLIW)

इसमें निर्देश स्तर समानांतरवाद का उपयोग करता है, अर्थात इसमें निर्देशों के समानांतर निष्पादन को नियंत्रित करने के लिए कार्यक्रम हैं ।

इस आर्किटेक्चर के प्रोसेसर में कई कार्यात्मक इकाइयॉ होती हैं, जो इंस्टक्शन cache से प्राप्त होती हैं जिसमें बहुत लंबा इंस्टक्शन शब्द होता है ।

इसमें, प्रोसेसर कई निर्देश प्राप्त करता है और निर्देश शब्द पर इनकोडिंग और पुनर्प्राप्त किया जाता है ।

इंस्टक्शन सेट क्या ऑपरेशन करता है (Operations performed by Instruction Set) ?

एक प्रोग्राम में निर्देशों का एक क्रम होता है और यह कंप्यूटर की मेमोरी यूनिट में स्थित होता है । कार्यक्रम प्रत्येक निर्देश के लिए एक चक्र का पालन करके कार्यान्वित किया जाता है ।

प्रत्येक निर्देश चक्र को उप-चक्रों या चरणों की एक श्रृंखला में विभाजित किया जाता है । सेट निम्नलिखित ऑपरेशन करता है :-

  • मेमोरी से एक निर्देश प्राप्त करता है ।
  • निर्देशों को डीकोड करता है ।
  • यदि निर्देश में अप्रत्यक्ष एड्रेस है तो मेमोरी से प्रभावी एड्रेस पढ़ता है ।
  • आखीर मे निर्देशों को निष्पादित करता है ।

निर्ष्कष – Conclusion

इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर बुनियादी संचाल के समुह को परिभाशित करता है जो कंप्यूटर समर्थन करता है । इसमें संचालन की कार्यात्मक परिभाषा और उन्हें कैसे लागू और एक्सेस करना है, इसका सटीक विवरण शामिल होते है ।

मुझे आशा है आपने इंस्टक्शन सेट आर्किटेक्चर क्या है (What is Instruction Set Architecture in Hindi), इसके प्रकार, इसके क्या महत्व है, इंस्टक्शन सेट क्या ऑपरेशन करता है, इन सबके बारे में आपने अच्छे से जान लिया हैं ।

अगर फिर भी इसके बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है ।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here