HomeCS SubjectsComputer Architectureकंप्यूटर आर्किटेक्चर में पैरेलल प्रोसेसिंग क्या है | What is parallel processing...

कंप्यूटर आर्किटेक्चर में पैरेलल प्रोसेसिंग क्या है | What is parallel processing in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, कंप्यूटर आर्किटेक्चर में पैरेलल प्रोसेसिंग क्या है (What is parallel processing in Hindi), पैरेलल प्रोसेसिंग के उपयोग, फायदे और कैसे कार्य करता है ।

तो चलिए parallel processing के बारे में विस्तार से जानते है ।

कंप्यूटर आर्किटेक्चर में पैरेलल प्रोसेसिंग क्या है (What is parallel processing in Hindi) ?

Parallel processing का हिन्दी अर्थ है समानांतर प्रसंस्करण ।

एक कंप्यूटर सिस्टम को पैरेलल प्रोसेसिंग सिस्टम या पैरेलल कंप्यूटर कहा जाता है यदि यह डेटा के विभिन्न सेटों के एक साथ प्रसंस्करण या एक साथ कई निर्देषों के निष्पादन के लिए सुविधाएं प्रदान करता है ।

पैरेलल प्रोसेसिंग एक समग्र कार्य के अलग अलग हिस्सों को संभालने के लिए दो या दो से अधिक प्रोसेसर चलाने की गणना में एक विधि है । कई प्रोसेसर के बीच एक कार्य के विभिन्न हिस्सों को तोड़ने से प्रोग्राम चलाने के लिए समय की मात्रा को कम करने में मदद मिलेगा ।

कोई भी सिस्टम जिसमें एक से अधिक CPU होते हैं, पैरेलल प्रोसेसिंग कर सकते हैं साथ साथ मल्टी कोर प्रोसेसर भी कर सकते हैं जो आमतौर पर आज के सभी कंप्यूटरों में पाए जाते हैं ।

पैरेलल प्रोसेसिंग का उपयोग क्यों किया जाता है (Why parallel processing is used) ?

पैरेलल प्रोसेसिंग या समानांतर प्रसंस्करण का उपयोग करने का प्राथमिक उद्देश्य कंप्यूटर प्रोसेसिंग क्षमता को बढ़ाना और इसके throughput को बढ़ाना है, अर्थात प्रोसेसिंग की मात्रा जिसे एक निश्चित समय अंतराल के दौरान पूरा किया जा सकता है ।

पैरेलल प्रोसेसिंग का उपयोग आमतौर पर जटिल कार्यों और कंप्यूटेशन को करने के लिए किया जाता है । डेटा वैज्ञानिक आमतौर पर गणना और डेटा गहन कार्यों के लिए पैरेलल प्रोसेसिंग या समानांतर प्रसंस्करण का उपयोग करते हैं ।

पैरेलल प्रोसेसिंग के कितने प्रकार है (Types of parallel processing) ?

मुख्य रूप से चार प्रकार के पैरेलल प्रोसेसिंग या समानांतर प्रसंस्करण होते हैं, जो डेटा के सोर्स और उसके द्वारा किए जाने वाले प्रोसेसिंग के प्रकार के अनुसार वर्गीकृत होते है, जो निम्न प्रकार है :-

  • SISD
  • SIMD
  • MISD
  • MIMD

SISD

SISD का पूरा नाम Single Instruction Single Data है ।

सिंगल प्रोसेसर वाले कंप्यूटर जो सिंगल निर्देष स्ट्रीम और सिगल डेटा स्ट्रीम का उपयोग करके स्केलर अंकगणितीय संचालन को निष्पादित करने में सक्षम है, उने SISD कंप्यूटर कहलाते है ।

SISD एक कंट्रोल यूनिट, एक प्रोसेसिंग यूनिट और एक मेमोरी यूनिट के साथ एक कंप्यूटर संगठन का प्रतिनिधित्व करता है । SISD उपयोग में आने वाले सीरियल कंप्यूटर की तरह है । SISD निर्देशों को क्रमिक रूप से निष्पादित करता है और उनमें पैरेलल प्रोसेसिंग क्षमताएं हो भी सकती हैं और नहीं भी ।

SIMD

SIMD का पूरा नाम Single Instruction Multiple Data है ।

एक सिंगल प्रोसेर वाले कंप्यूटर जो सिंगल निर्देश स्ट्रीम का उपयोग करके वेक्टर अंकगण्तिय संचालन को निष्पादित करने में सक्षम है लेकिन कई डेटा स्ट्रीम SIMD कंप्यूटर कहलाते है ।

इसमें कई प्रोसेसिंग तत्व षामिल हैं । यह सभी तत्व एक समान्य नियंत्रण इकाई के प्रशासन के नीचे हैं । सभी प्रोसेसर को कंट्रोल यूनिट से समान निर्देश मिलते हैं लेकिन कई डेटा आइटम पर काम करते हैं ।

MISD

MISD का पूरा नाम Multiple Instruction Single Data है ।

MIMD

MIMD का पूरा नाम Multiple Instruction Multiple Data है ।

पैरेलल प्रोसेसिंग कैसे काम करता है (How parallel processing works) ?

आमतौर पर एक कंप्यूटर वैज्ञानिक एक जटिल कार्य को एक सॉफटवेयर टूल के साथ कई भागों में विभाजित करते है और प्रत्येक भाग को एक प्रोसेसर को सौंपते है, फिर प्रत्येक प्रोसेसर अपने हिस्से को हल करता है, और समाधान को पढ़ने या कार्य को निष्पादित करने के लिए एक सॉफटेवेयर टूल द्वारा डेटा को फिर से इकठ्ठा किया जाता है ।

प्रत्येक प्रोसेसर सामान्य रूप से काम करता है और निर्देशानुसार कंप्यूटर की मेमोरी से डेटा खींच कर पैरेलल में संचालन करता है ।

प्रोसेसर एक दूसरे के साथ संवाद करने के लिए सॉफटवेयर पर निर्भर करते हैं ताकि वे डेटा मूल्यों में परिवर्तन के संबंध में सिंक में रह सके । यह इसलिए सॉफटवेयर पर निर्भर करते हैं कि सभी प्रोसेसर एक दूसरे के साथ तालमेल बिठाते हैं, एक कार्य के अंत में सॉफटवेयर सभी डेटा टुकड़ों को एक साथ फिट कर देगा ।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है, इस लेख से आपने पैरेलल प्रोसेसिंग या समानांतर प्रसंस्करण क्या है, इसकी उपयोग और कैसे काम करता है इस बारे में हिन्दी में ही पूरी जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

यदि फिर भी इस संबंध में आपके मन में कोई प्रश्र हैं, तो हमें कमेंट करके पुछ सकते हैं ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit
Satyajithttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular