HomeSoftware Engineeringसॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग क्या है | What is Software Re-engineering in Hindi

सॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग क्या है | What is Software Re-engineering in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, सॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग क्या है (What is Software Re-engineering in Hindi), सॉफवेयर री-इंजीनियरिंग की आवश्यकता क्यों है, सॉफवेयर री-इंजीनियरिंग कैसे काम करता है ।

तो चलिए Software Re-engineering के बारे में विस्तार से सीखते है ।

सॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग क्या है | What is Software Re-engineering in Hindi ?

सॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग सॉफटवेयर विकास की एक प्रक्रिया है जो एक सॉफटवेयर सिस्टम की रखरखाव में सुधार के लिए की जाती है ।

री-इंजीनियरिंग एक नए रूप में इसे पुनर्गठित करने के लिए एक प्रणाली की परीक्षा और परिवर्तन है । इस प्रक्रिया में,रिवर्स इंजीनियरिंग, फॉरवर्ड इंजीनियरिंग, पुनर्निर्माण आदि जैसी उप प्रक्रियाओं का संयोजन शामिल है ।

एक सॉफटवेयर उत्पाद पुनर्रचना एक सॉफवेयर उन्नयन प्रक्रिया है या एक अधिक उन्नत प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म पर इसका माइग्रेशन है । उसी समय, इसकी वर्तमान कार्यक्षमता या तो सहेजी जाती है या मामूली संशोघन से गुजरती है ।

सॉफवेयर री-इंजीनियरिंग की आवश्यकता क्यों है (Why software Re-engineering needed ) ?

सॉफटवेयर री-इंजीनियरिंग की आवश्कता आपके उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार का एक अभिन्न अंग बन जाती है । यह प्रक्रिया आपके व्यवसाय में अधिक मूल्य जोड़ती है क्योंकि यह न केव आपकी सेवाओं को बेहतर बनाती है बल्कि अतिरिक्त राजस्व में भी योगदान देती है ।

सॉफवेयर री-इंजीनियरिंग में गतिविधियॉ क्या है (Software Re-engineering activities ) ?

  • Inventory Analysis
  • Document reconstructing
  • Reverse Engineering
  • Data Restructuring
  • Code Reconstructing
  • Forward Engineering

Inventory Analysis

इन्वेंटरी एक स्प्रेडशीट मॉडल से ज्यादा कुछ नहीं है जिसमें जानकारी होती है जा प्रत्येक सक्रया एप्लिकेशन का विस्तृत विवरण प्रदान करती है । इस जानकारी को व्यवसाय की महत्वपूर्णता, दीर्घायु, वर्तमान रखरखाव और मानदंडों के अनुसार क्रमबद्ध करके, पुनः इंजीनियरिंग के लिए उम्मीदवार दिखाई देते हैं ।

Document Reconstructing

दस्तावेजों को अपडेट किया जाना चाहिए । किसी आवेदन को पूरी तरह से प्रलेखित करना आवश्यक नहीं हो सकता है । सिस्टम व्यवसाय के लिए महत्वपूर्ण है और इसे पूरी तरह से फिर से प्रलेखित किया जाना चाहिए ।

Reverse Engineering

रिवर्स इंजीनियरिंग डिजाइन रिकवरी की एक प्रक्रिया है ।

Data Restructuring

डेटा पुनर्गठन एक रिवर्स इंजीनियरिंग गतिविधि से षुरू होता है । इसमें डेटा ऑब्जेक्ट और विशेषताओं की पहचान की जाती है, और गुणवत्ता के लिए मौजूदा डेटा संरचना की समीक्षा की जाती है ।

Code Reconstructing

कोड पुनर्निर्माण को पूरा करने के लिए, एक पुनर्निर्माण उपकरण का उपयोग करके सोर्स कोड का विश्लेषण किया जाता है । परिणामी पुनर्रचित कोड की समीक्षा की जाती है और यह सुनश्चित करने के लिए परीक्षण किया जाता है कि कोई विसंगति नहीं पेश की गई है ।

Forward Engineering

फॉरवर्ड इंजीनियरिंग को न केवल मौजूदा सॉफटवेयर से डिजाइन जानकारी पुनर्प्राप्त करने के लिए नीनीकरण या सुधार के रूप मे भी जाना जाता है बल्कि इस जानकारी का उपयोग मौजूदा सिस्टम को अपनी समग्र गुणवत्ता में सुधार के प्रयास में बदलने या पुनर्गठित करने के लिए करता है ।

सॉफवेयर री-इंजीनियरिंग कैसे काम करता है (How Software Re-engineering works ) ?

सॉफटवेयर रीइंजीनियरिंग प्रक्रिया में सॉफटवेयर पर अतिरिक्त सुविधाएॅ विकसित करना और बेहतर और अधिक कुशल सॉफटवेयर के लिए कार्यात्मकता जोड़ना शामिल है । इस प्रक्रिया में, बेहतर विकास और ग्राहक अनुभव के लिए रीइंजीनियिंरंग सॉफटवेयर के निरंतर सुधार की दिशा में एक कदम है । इसके अतिरिक्त, यह मौजूदा उत्पादों को उनकी सेवा में सुधार करने का एक तरीका है ।

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे लगता है इस पोस्ट से आपने सॉफटवेयर रीइंजीनियरिंग क्या है (What is Software Re-engineering) के बारे में हिन्दी में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी Software Re-engineering के बारे में आपको ओर कोई जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके जरूर पुछे ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

3 COMMENTS

  1. Hello this is somewhat of off topic but I was wondering if blogs use WYSIWYG editors or if you have to manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no coding skills so I wanted to get guidance from someone with experience. Any help would be enormously appreciated!|

  2. Thanks for another informative web site. The place else could I get that kind of info written in such an ideal means? I have a venture that I’m just now running on, and I have been at the glance out for such info.|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

Data क्या है और यह कितने प्रकार का होता है ? - on बाइनरी नंबर सिस्टम क्या है | What is Binary Number System in Hindi