HomeCS SubjectsSoftware Engineeringसॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मे SSAD क्या है | What is SSAD in...

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मे SSAD क्या है | What is SSAD in SE in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में SSAD क्या है (What is SSAD in SE in Hindi), इसके प्रकार और उपयोग करने का क्या लाभ है ।

सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियरिंग यूजर की आवश्यकताओं के निर्धारण के साथ शुरू होती है और डिवेलप सिस्टम के परीक्षण और कार्यान्वयन के साथ समाप्त होती है ।

सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियरिंग दो मेथड का उपयोग करके किया जाता है, जो हैं :-

  • Structured Systems Analysis and Design
  • Object Oriented Systems Analysis and Design

इस लेख से हम केवल SSAD के बारे में विस्तार से जानेंगे है ।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मे SSAD क्या है (What is SSAD in SE in Hindi) ?

इसका पूरा नाम Structured Systems Analysis and Design है ।

यह मेथड सिस्टम और इसकी आवश्यकताओं को संरचित तरीके से तोड़ा जाता है । सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सब सिस्टम स्टक्चर की मदद से किया जाता है । प्रत्येक सब-सिस्टम का अलग से परीक्षण किया जाता है, फिर संघटित और कार्यान्वित किया जाता है ।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरों के पास सिस्टम को संरचित तरीके से तोड़ने के लिए आवष्यक कौषल होना चाहिए, जैसे कि यह आवष्यक विशेषताओं के साथ एक सॉफ्टवेयर को समझने और विकसित करने की सुविधा प्रदान कर सके ।

SSAD का उद्देश्य क्या है (Objectives of SSAD) ?

इस पद्धति के साथ, एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट प्रोजैक्ट को चरणों, कार्यों और मॉडयूल में विभाजित किया जाता है और प्रोजैक्ट के मेनेजिंग के लिए उपयुक्त तरीके से प्रोजैक्टों का वर्णन करने के लिए एक रूपरेखा प्रदान करता है । इसका उपयोग करने का मुख्य उद्देश्य है :-

  • यह परियोजना में सभी प्रतिभागियों के बीच संचार को बेहतर बनाने में मदद करता है ताकि एक प्रभावी निर्माण हो सकं ।
  • यह परियोजना प्रबंधन और नियंत्रण में सुधार करता है ।
  • यह अनुभवी और अनुभवहीन डेवलपमेंट कर्मचारियों का अधिक प्रभावी उपयोग करता है ।
  • यह कंप्यूटर आधारित टूल जैसे कंप्यूटर एडेड सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग सिस्टम द्वारा समर्थित परियोजनाओं को सक्षम बनाता है ।

SSAD के क्या फायदे है (Advantages of SSAD) ?

इस मेथड को उपयोग करने का कोई फायदे है, इसमें कुछ महत्वपूर्ण फायदे हैं :-

  • यह अच्छी तरह से परिभाषित उदेश्यों के साथ एक परियोजना को छोटे मॉडयूल में विभाजित करता है ।
  • यह आवश्यकताओं के विनिर्देश और सिस्टम डिजाइन चरण के दौरान उपयोगी है ।
  • यह सरल है, इसलिए ग्राहकों और डेवलपर्स द्वारा आसानी से समझा जा सकता है ।
  • यह एक क्रम में गतिविधियों का प्रदर्शन करता है ।

SSAD कैसे काम करता है (How SSAD Works) ?

इसका मूल लक्ष्य गुणवत्ता में सुधार करना और सिस्टम विफलता के जोखिम को कम करना है । यह सूचना सिस्टम के विश्लेषण और डिजाइन के लिए एक वॉटरफॉल मेथड है ।

SSAD में उपयोग की जाने वाली तीन सबसे महत्वपूर्ण तकनीकें इस प्रकार हैं :-

  • Logical data mode ling
  • Data flow modeling
  • Entity event modeling

SSAD मेथड का वर्गीकरण (Classification of SSAD method) ?

SSAD को निम्नानुसार वर्गीकृत किया जा सकता है :-

  • Checklist base method
  • Form based method
  • Data structure based method
  • Data flow based method
  • Computer based method

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में SSAD क्या है, इसका उपयोग, लाभ और फायदे क्या है इस बारे में अच्छे से हिन्दी में ही पूरी जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी इस विशय में आपके मन में कोई प्रश्र हैं, तो आप comments के जरिए हम से पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :-

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit Nath
Satyajit Nathhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here