HomeCS SubjectsComputer Networksलेटेंसी क्या है | What is Latency in Hindi

लेटेंसी क्या है | What is Latency in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, लेटेंसी सिस्टम क्या है (What is Latency in Hindi), लेटेंसी के कारण क्या है, लेटेंसी कैसे काम करता है, लेटेंसी में सुधार क्यों करना चाहिए, लेटेंसी को कैसे मापते है और लेटेंसी को कैसे सुधार कर सकते हैं ।

तो चलिए लेटेंसी (Latency) के बारे में विस्तार से समझते हैं ।

लेटेंसी क्या है (What is Latency in Hindi) ?

लेटेंसी (Latency) को हिन्दी में विलंबता कहते है । लेटेंसी ब्राउजर के बीच सर्वर को अनुरोध भेजने और नेटवर्क या इंटरनेट कनेक्षन पर अनुरोध करने वाले सर्वर प्रसंस्करण के बीच की देरी है । इसे आमतौर पर मिलीसेकंड में मापा जाता है ।

लेटेंसी उस समय को संदर्भित करता है जो डेटा को नेटवर्क पर एक बिंदु से दूसरे बिंदु तक जाने में लगते है ।

यह आम तौर पर उस समय की मात्रा के रूप में माना जाता है जब यूजर द्वारा कोई अनुरोध किया जाता है और उस यूजर को प्रतिक्रिया के रूप में वापस आने में लगने वाला समय है ।

लेटेंसी कितने प्रकार होते हैं (Types of Latency) ?

  • Internet latency
  • Computer and Operating System latency
  • Interrupt latency
  • Fiber optic latency
  • Audio latency
  • Mechanical latency

लेटेंसी के क्या कारण है (What are reasons for Latency) ?

लेटेंसी निम्नलिखित कुछ चीजों के कारण हो सकता है :-

  • Transmission Medium
  • Packet size
  • Propagation delay
  • Low memory space
  • Multiple routers

लेटेंसी कैसे काम करता है (How does Latency work) ?

अब तक, आप जान चुके होंगे कि लेटेंसी वह समय है, जब किसी यूजर कोई अनुरोध करता है और प्रत्रिक्रिया प्राप्त करता है उनके के बीच के समय है ।

एब बार जब कोई यूजर अनुरोध करता है, तो उसे प्रतिक्रिया मिलने से पहले उसमें कई स्टेप होते हैं । चलिए इसे एक उदाहरण के साथ बेहतर ढंग से समझते हैं ।

मान लेते है कि कोई यूजर Flipkart वेबसाइट पर गया है और वहा T-Shirt कैटेगरी मे क्लिक करता हैं। यूजर के ब्राउजर पर उस के आइटम प्रदर्शित करने के लिए, निम्गलिखित कार्य होता हैं :-

  1. सबसे पहले, Flipkart वेबसाइट पर यूजर T-Shirt कैटेगरी पर क्लिक करता है ।
  2. यूजर का ब्राउजर Flipkart वेबसाइट के सर्वर पर एक अनुरोध भेजता है ।
  3. अनुरोध सभी आवश्यक जानकारी के साथ Flipkart साइट के सर्वर तक जाता है ।
  4. इसके बाद Flipkart की वेबसाइट के सर्वर को अनुरोध मिलती है ।
  5. सर्वर अनुरोध को संसाधित करने से पहले स्वीकार या अस्वीकार कर सकता है । इनमें से प्रत्येक चरण में समय लगता है ।
  6. सर्वर यूजर को उनके अनुरोध से संबंधित आवश्यक जानकारी के साथ एक उत्तर भेजता है ।
  7. अंत में, यूजर के ब्राउजर को उत्तर मिल जाता है, और वह यूजर के सामने T-Shirt कैटगरी के प्रोडक्ट को दिखाता है ।

लेटेंसी को कैसे मापते है (How to measure latency) ?

लेटेंसी परीक्षण आवेदन से आवेदन में भिन्न हो सकता है । कुछ एप्लिकेषन में लेटेंसी को मापने के लिए विशेष और जटिल उकरण या विशेष कंप्यूटर कमांड और प्रोग्राम के ज्ञान की आवश्यकता होती है । आम तौर पर लेटेंसी को दो तरीकों से मापा जा सकता है :-

  • Round Trip Time (RTT)
  • Time To First Byte  (TTFB

Round Trip Time (RTT)

यह एक पैकेट को क्लाइंट से सर्वर तक और वापस आने में लगने वाले समय की मा़त्रा है ।

Time To First Byte (TTFB)

जब क्लाइंटट अनुरोध भेजता है तो सर्वर को डेटा की पहली बाइट प्राप्त करने में लगने वाला समय होता है ।

लेटेंसी को कैसे सुधार कर सकते हैं (How to improve Latency) ?

  • Use a CDN
  • Minify CSS file
  • Minify JavaScript file
  • Compress images
  • Reduce the number of render blocking resources

नेटवर्क लेटेंसी में सुधार कैसे करते हैं (How to improve network latency) ?

नेटवर्क लेटेंसी के मुख्य कारण है :-

  • Physical issues
  • End-user issues
  • Distance
  • Website / network construction

नेटवर्क विलंबता में सुधार करने का एक आसान तरीका यह जांचना है कि आपके नेटवर्क पर अन्य लोग अनावश्यक रूप से आपके बैंडविडथ का उपयोग तो नहीं कर रहे हैं, या अत्यधिक डाउनलोड या स्टीमिंग के साथ आपकी नेटवर्क के लेटेंसी या विलंबता को बढ़ा नहीं रहे हैं ।

आप यह जांच सकते है कि क्या आपके नेटवर्क पर कोई डिवाइस विषेश रूप से समस्या पैदा कर रहा है, आप कंप्यूटर या नेटवर्क डिवाइस को डिस्कनेक्ट करने और सभी हार्डवेयर को पुनरारंभ करके प्रयास कर सकते हैं ।

यदि फिर भी लेटेंसी की समस्या है, तो यह समस्या उस गंतव्य से आ सकती हैं जिससे आप कनेक्ट करने का प्रयास कर रहे हैं ।

नेटवर्क में विलंबता (Latency) के मुख्य कारणों में से एक है दूरी से डेटा को यात्रा करना है, विशेष रूप से, अनुरोध करने वाले क्लाइंट डिवाइस और प्रत्येक अनुरोध का जवाब देने वाले सर्वर के बीच की दूरी है ।

इसके बाद आप, एप्लिकेशन के प्रदर्शन की जांच करें यह जानने के लिए कि क्या एप्लिकेशन अप्रत्याशित रूप से कार्य कर रहे हैं और संभावित रूप से नेटवर्क पर दबाव तो नहीं डाल रहे हैं ।

आप अपने नेटवर्क के लेटेंसी को बेहतर बनाने के लिए टैफिक को आकार देने  (traffic shaping) और बैंडविडथ आवंटन (bandwidth allocation) का उपयोग कर सकते हैं ।

ये भी पढ़ेंपीएम किसान योजना क्या है, लाभ, पात्रता मानदंड और आप कैसे आवेदन कर सकते हैं

लेटेंसी और थ्रूपुट के बीच क्या अंतर है (Difference between latency and throughput) ?

लेटेंसी (Latency) थ्रूपुट (Throughput)
Latency इंगित करती है कि पैकेट को अपने गंतव्य तक पहुंचने में कितना समय लगता है । Throughput एक विशिष्ट अवधि के भीतर संसाधित किए गए पैकेटों की संख्या को दिया गया एक शब्द है ।
यह किसी एक्शन को करने में लगने वाले समय है । यह उन एक्शनों की संख्या है जिन्हें एक समय में निष्पादित किया जा सकता है ।
लेटेंसी मापता है कि डेटा को कितनी जल्दी स्थानांतरित किया जाता है जबकि थ्रूपुट मापता है कि कितना डेटा भेजा जा सकता है ।

यदि आप वीडियो देखना पसंद करते है तो आप निचे दिए गए वीडियों के माध्यम से लेटेंसी के बारे में जान सकते हैं ।

https://www.youtube.com/embed/IqFdxngXJic

निर्ष्कष– Conclusion

मुझे आशा है इस पोस्ट से आपने लेटेंसी ;स्ंजमदबलद्ध क्या है और लेटेंसी को कैसे सुधार कर सकते हैं इसके बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लिया है ।

अगर फिर भी लेटेंसी (Latency) को लेकर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमें टिप्पणी अनुभाग के जरीए पुछ सकते है ।

FAQ’s

Q1 :

Ans:

अन्य पोस्ट पढ़े :

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Satyajit
Satyajithttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular