HomeCS SubjectsComputer Architectureकंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम क्या है | What is Storage System in...

कंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम क्या है | What is Storage System in Computer in Hindi

हेल्लो पाठकों !

क्या आप जानना चाहते है, कंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम क्या है (What is Storage System in Computer in Hindi), स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार होते है, कंप्यूटर में स्टोरेज क्यों जरूरी है, स्टोरेज कैसे कार्य करता है और मेमोरी और स्टोरेज में क्या अंतर है ।

तो चलिए Storage System के बारे में विस्तार से जानते है ।

कंप्यूटर का कुशल तरीके से उपयोग करने के लिए पहले से कई प्रोग्राम और साथ ही डेटा तैयार करना आवश्यक है । फिर इन प्रोग्रामों और डेटा को स्टोरेज माध्यम में प्रसारित किया जाता है । फिर, डिस्क में उपलब्ध जानकारी को एक कंप्यूटर की मेमोरी में तेजी से प्रसारित किया जाता है ।

कंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम क्या है (What is Storage System in Computer in Hindi) ?

स्टोरेज एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से डिजिटल डेटा को डेटा स्टोरेज डिवाइस में सेव किया जाता है, कंप्यूटिंग टैकनोलजी के माध्यम से । स्टोरेज एक ऐसा तंत्र है जो कंप्यूटर को अस्थायी या स्थायी रूप से डेटा को बनाए रखने में सक्षम बनाता है ।

एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में जानकारी को भेजने या रखने के लिए, हमें फाइल के भीतर जानकारी को स्टोर करना पड़ता है जो कि स्टोरेज डिस्क में स्टोर होती है ।

आजकल कंप्यूटिंग के लिए स्टोरेज सिस्टम का होना बहुत जरूरी है । कंप्यूटिंग का हर मान्यता प्राप्त प्लेटफॉर्म, जो आसान उपकरणों से लेकर विशाल सूपर कंप्यूटर तक है, स्टोरेज सिस्टम का उपयोग करता है । स्टोरेज सिस्टम डेटा को अल्पावधि या हमेषा के लिए संग्रहीत करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है ।

एक उदाहरण से अच्छे से समझते है, मान लेते है की आपने कंप्यूटर पर वर्ड प्रोसेसिंग का इस्तेमाल करके एक पत्र लिखा और जिस पत्र को आप कंप्यूटर में रखना चाहते हैं तो आपको इसे स्टोर करने की आवश्यकता होगी । डेटा को कंप्यूटर में फाइलों के रूप में स्टोर किया जाता है, जो एक फाइलें रखने की अलमारी के बराबर होता है फाइलें फिर से एक फोल्डर में स्टोर किया जाता है और फोल्डर्स को ड्राइव के भीतर स्टोर किया जाता हैं ।

स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार होते है (Types of Storage devices)  ?

  • Primary Storage Devices
  • Magnetic Storage Devices
  • Optical Storage Devices
  • Flash memory devices
  • Cloud and Virtual Storage

Primary Storage Devices:

इसे इंटरनल मेमोरी और मेन मेमोरी के रूप में भी जाना जाता है । यह सीपीयू का एक भाग है जो प्रोग्राम निर्देश, इनपुट डेटा और मध्यवर्ती परिणाम रखता है । यह आमतौर पर आकार में छोटा होता है । RAM और ROM प्राइमरी स्टोरेज के एक उदाहरण हैं ।

Magnetic Storage Devices:

आज, मेगनेटीक स्टोरेज कंप्यूटर के साथ उपयोग किए जाने वाले सबसे सामान्य प्रकार के स्टोरेज में से एक है । यह तकनीक ज्यादातर बहुत बड़े HDD या हाइब्रिड हार्ड ड्राइव पर पाई जाती है ।

Optical Storage Devices:

यह एक अन्य सामान्य प्रकार का स्टोरेज ऑप्टिकल स्टोरेज है, जो डेटा पढ़ने और लिखने की अपनी विधि के रूप में लेजर और रोशनी का उपयोग करता है ।

Flash Memory Devices:

यह एक सस्ता और पोर्टेबल स्टोरेज डिवाइस है । यह डेटा स्टोर करने के लिए सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण है क्योंकि यह अन्य स्टोरेज डिवाइस की तुलना में अधिक विश्वसनीय और कुशल है । आमतौर पर उपयोग की जाने वाली कुछ फ्लैश मेमोरी डिवाइस है, जैसे Pen Drive, SD Card, Memory Card और Multimedia Card हैं ।

Cloud and Virtual Storage

आजकल, सेकेंडरी मेमोरी को वर्चुअल या क्लाउड स्टोरेज डिवाइस में अपग्रेड कर दिया गया है । हम अपनी फाइलों और अन्य सामान को क्लाउड में स्टोर कर सकते हैं और डेटा तब तक स्टोर किया जाता है जब तक हम क्लाउड स्टोरेज के लिए भुगतान करते हैं । ऐसी कई कंपनियां हैं जो मुख्य रूप से Amazon, Google और Microsoft, आदि क्लाउड सेवांए प्रदान करती हैं ।

हालांकि यह वास्तव में सेवा प्रदाता के डेटा सेन्टर में स्थित एक फेजिकल डिवाइस में स्टोर किया जाता है, यूजर फेजिकल डिवाइस और उसके रखरखाव के साथ कोई संबंध नहीं रखता। हमें जितनी जगह की जरूरत है उसके लिए किराए का मुगतान करके इसको इस्तेमाल कर सकते हैं ।

कंप्यूटर में स्टोरेज क्यों जरूरी है (Why storage is important in Computer) ?

जेसे जेसे आजकल बिग डेटा, एडवान्स एनालिटिक्स और इंटरनेट ऑफ थिंग्स उपकरणों के आगमन के साथ, डेटा की बढ़ती मात्रा को संभालने के लिए स्टोरेज पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो गया है ।

आधुनिक स्टोरेज सिस्टम को यह सभी डेटा का विश्लेषण करने और इसका अधिकतम मूल्य प्राप्त करने के लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और अन्य एआई टेक्नोलॉजि के उपयोग का भी समर्थन करता है ।

आज के रीयल टाइम डेटाबेस एनालिटिक्स और हाई परफॉर्मेंस कंप्यूटिंग के लिए भी अत्यधिक सघन और स्केलेबल स्टोरेज सिस्टम की आवश्यकता होती है, चाहे वे SAN, स्केल आउट और स्केल अप NAS, ऑब्जेक्ट स्टोरेज प्लेटफॉर्म, या कन्वर्ज्ड, हाइपर कन्वर्ज्ड या कपोजेबल इंफ्रास्ट्रक्चर का रूप लें ।

स्टोरेज कैसे कार्य करता है (How storage works in Hindi) ?

स्टोरेज शब्द स्टोर डेटा और उस डेटा को कैप्चर, प्रबंधित, सुरक्षित और प्राथमिकता देने के लिए उपयोग किए जाने वाले एकीकृत हार्डवेयर और सॉफटवेयर सिस्टम दोनों को संदर्भित करता है । आज के युग में कई अलग अलग प्रकार के स्टोरेज उपकरण हैं, और प्रत्येक एक अलग विधि को उपयोग करके कार्य करते हैं, जैसे :-

HDD

HDD का पूरा नाम Hard Disk Drive हैं । हार्ड डिस्क चुंबकीय सामग्री की एक पतली परत के साथ लेपित एक गोलाकार प्लेट है । डिस्क को स्पिंडल पर डाला जाता है और जो प्रति मिनट 15000 क्रांतियों की गति से घुमता है । जैसे ही यह घूमता है, चुंबकीय रिकॉर्डिंग हेडस का उपयोग करके डिस्क की सतह पर डेटा लिखा जाता है ।

एक हाई स्पीड एक्टयूएअर आर्म (actuator arm) रिकॉर्डिंग हेड को डिस्क पर पहले उपलब्ध स्थान पर रखता है, जिससे डेटा को गोलाकार तरीके से लिखा जा सकता है । HDD पर, डेटा के ब्लॉक सेक्टरों के भीतर स्टोर किए जाते हैं ।

SSD

SSD का पूरा नाम Solid State Drive हैं । इसमे, डेटा को पूल किए गए नंद फलैश चिप्स के लिए लिखा जाता है जो अपने विदयुत शुल्क को बनाए रखने के लिए फलोटिंग गेट सेल या चार्ज ट्रैप सेल का उपयोग करते हैं । एक एसएसडी तकनीकी रूप से एक ड्राइव नहीं है बल्कि मिलीमीटर आकार के सिलिकॉन चिप्स से बने एक एकीकृत सर्किट की तरह है जिसमें हजारों या लाखों नेनो ट्रांसिस्टर्स भी हो सकते हैं ।

USB Flash Drive

USB फ्लैश ड्राइव डेटा स्टोरेज के लिए उपयोग किया जाने वाला एक डिवाइस है जिसमें एक फ्लैश मेमोरी और एक एकीकृत USB इंटरफेस शामिल है । फ्लैश ड्राइव एक छोटा, अल्ट्रा पोर्टेबल स्टोरेज डिवाइस है, जिसमें ऑप्टिकल ड्राइव के विपरीत कोई हिलता हुआ भाग नहीं होता है । फ्लैश ड्राइव को अक्सर पेन ड्राइव, थंब ड्राइव या जंप ड्राइव के रूप में जाना जाता है ।

मेमोरी और स्टोरेज में क्या अंतर है (Difference between memory and storage) ?

निर्ष्कष – Conclusion

मुझे आशा है, इस पोस्ट से आपने कंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम क्या है, स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार है, किसी भी कंप्यूटर में स्टोरेज सिस्टम की क्यों जरूरत होती है, स्टोरेज सिस्टम कैसे काम करता है, इन सबके बारे में आपने अच्छे से जान लिया तथा सीख भी लिया होगा ।

अगर फीर भी आपके मन में कंप्यूटर की Storage System को लेकर कोई भी सवाल या प्रश्न हैं तो आप हमें कमेंट के जरिये पुछ सकते है ।

अन्य पोस्ट पढ़े

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकी उन्हें भी इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।

Tazahindi Staff
Tazahindi Staffhttps://tazahindi.com
इस पोस्ट के लेखक सत्यजीत है, वह इस वेबसाइट का Founder भी हैं । उन्होंने Information Technology में स्नातक और Computer Application में मास्टर डिग्री प्राप्त की हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here